राधा वृन्दावन चंद्र ने किया यमुना जी में नौक विहार

-नौका विहार उत्सव का किया गया आयोजन

-राधा वृन्दावन चंद्र ने किया यमुना जी में नौक विहार

-चंद्रोदय मंदिर में 56 भोग किया गये प्रदान

By: arun rawat

Updated: 21 Nov 2020, 05:24 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क


मथुरा. भक्ति वेदांत स्वामी मार्ग स्थित वृन्दावन चंद्रोदय मंदिर में आयोजित त्रिदिवसीय कार्तिक उत्सव के दूसरे दिन आज दिनांक 21 नवबर 2020, दिन शनिवार को नौका विहार उत्सव का आयोजन किया गया। इस दौरान राधा वृन्दावन चंद्र को नवीन पोषक धारण करा, उन्हें मंदिर प्रांगण से चीर घाट स्थित यमुना तट पर लाया गया, जहाँ भक्तों द्वारा दिव्य पुष्पों एवं दुधिया रोशनी से युक्त नाव में विराजमान होकर राधा वृन्दावन चंद्र ने यमुना में नौका विहार किया।

वृन्दावन के यमुना मईया के घाटों पर कीर्तन मेला के अंतर्गत देश के विभिन्न केन्द्रों से आए भक्तों द्वारा मंदिर प्रांगण में अखंड हरिनाम संकीर्तन का आयोजन किया गया। इस उत्सव का शुभारंभ प्रातः कालीन बेला की मंगला आरती के साथ किया गया। जिसके बाद मंदिर में फूल बंगला, श्री श्री राधा वृन्दावन चंद्र को नवीन पोषक धारण करा, उन्हें 56 भोग प्रदान किया गया। इस अवसर पर चंद्रोदय मंदिर के जनसंपर्क प्रमुख ने बताया कि आज संध्या बेला में मंदिर के भक्तों द्वारा श्रीश्री राधा वृन्दावन चंद्र को पालकी में बैठाकर वृन्दावन स्थित चीर घाट के पास लाया गया। जहां पूर्व में विभिन्न प्रकार के पुष्पों से सजायी गई नाव में राधा वृन्दावन चंद्र को बैठाकर हरीनाम नाम संकीर्तन के साथ उन्हें यमुना जी में नौका विहार कराया गया।

इस उत्सव के अंतिम चरण में मंदिर के भक्तों ने अपने आराध्य श्रीश्री राधा वृन्दावन चंद्र के समक्ष दामोदर अष्टकम् की मनोहर प्रस्तुति दी साथ ही दीपदान कर उनका शुभाशीष प्राप्त किया।

arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned