शारीरिक और मानसिक शक्ति के साथ हृदय की शक्ति का करें प्रयोग : शैलजा कांत मिश्रा

Santosh Pandey

Publish: Sep, 17 2017 05:17:01 (IST)

Mathura, Uttar Pradesh, India
शारीरिक और मानसिक शक्ति के साथ हृदय की शक्ति का करें प्रयोग :  शैलजा कांत मिश्रा

युवाजन हरियाणा रेडक्रास, विकास और स्वच्छता अभियान से जुड़े

वृंदावन। बृज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजा कांत मिश्रा ने कहा कि हरियाणा रेडक्रॉस सोसाइटी सेवा अच्छा काम कर रही है। प्रत्येक युवा को रेडक्रॉस से जुड़कर राष्ट्र कल्याण के कार्यों में सहभाग करना चाहिए। उन्होंने कहा कि युवा रेडक्रास के सदस्य बनें और विकास एवं स्वच्छता अभियान से भी जुड़े। स्वछता से राष्ट्र समाज की समृद्धि संभव है। गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद जी महाराज के श्री कृष्ण कृपा धाम आश्रम में शैलजा कांत मिश्रा, नेशनल एसोसिएशन फॉर द ब्लाइंड की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं हरियाणा रेडक्रास की सदस्य सुषमा गुप्ता, हरियाणा रेड क्रॉस के उपाध्यक्ष मुकेश अग्रवाल, हरियाणा रेड क्रॉस के महासचिव डीआर शर्मा और स्वामी गोविंदानंद गिरि ने दीप प्रज्वलित करके हरियाणा युवा रेडक्रास प्रशिक्षण शिविर का शुभारंभ किया। इस शिविर में हरियाणा के विभिन्न कॉलेजों की लगभग 300 छात्राएं भाग ले रही हैं।

ह्रदय की शक्ति का प्रयोग करें

श्री मिश्रा ने कहानी का उदाहरण देते हुए बताया कि एक गुरु ने 20 वर्ष की शिक्षा के बाद अपने 3 शिष्यों को रात्रि में प्रस्थान करने का आदेश दिया। एक शिष्य ने नाले के जर्जर पुल को फांदकर पार किया। दूसरे ने सूखे नाले के नीचे पत्थरों से उतरकर पुल को पार किया। तीसरे शिष्य ने पहले उस पुल की मरम्मत की और फिर उसे पार किया। ताकि अन्य लोग भी पुल से पार उतर सकें। यह बात बताती है कि व्यक्ति को शरीर और दिमाग की ताकत के साथ हृदय की शक्ति का भी प्रयोग करना चाहिए। आप राष्ट्र और समाज के सेवा कार्य कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि बच्चियां शिविर में प्रशिक्षण लेने आई हैं, वह हमेशा शारीरिक और मानसिक शक्ति के साथ हृदय की शक्ति का प्रयोग करते हुए सेवा के कार्य करें।

प्रशिक्षण करुणा, प्रेम और सेवा के बीज बोयेगा

स्वामी गोविंदानंद गिरि ने कहा कि धरती पर नारी के अवतरण से ही सृष्टि का सृजन हुआ। यह प्रशिक्षण प्रतिभागी छात्राओं में करुणा, प्रेम और सेवा के बीज बोयेगा। देश पर हमेशा विरोधी शक्तियों का आक्रमण होता रहता है। इसलिए हमें संगठित होकर राष्ट्र की उन्नति के लिए कार्य करना चाहिए। रेड क्रॉस की टोपी को पहन कर आप अपने परिवार की नहीं, पूरे देश की बेटी हो गई हैं। अब आप क्षुद्र से विराट हो गई हैं। उन्होंने कहा स्त्री जितनी ईमानदार है /पुरुष उतना ईमानदार नहीं है। इसलिए सभी बच्चियां अपनी शक्ति को पहचाने और सेवा कार्यों में सलग्न हों।

कल्याण के लिए ज्ञान का उपयोग

सुषमा गुप्ता ने कहा कि इस पांच दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में बच्चियों को प्राथमिक चिकित्सा, आपदा राहत प्रबंधन, स्वच्छता अभियान और अन्य सेवा कार्यों के बारे में विस्तार से बताया जाएगा ,सभी बच्चियां मन लगाकर प्रशिक्षण प्राप्त करें। वे अपने परिवार और समाज के कल्याण के लिए इस ज्ञान का उपयोग कर सकें। मुकेश अग्रवाल ने कहा कि हरियाणा के हर जिले में रेड क्रॉस की शाखाएं सेवा के बेहतर कार्य कर रही हैं। हजारों युवा इस अभियान से जुड़कर पीड़ित और वंचित मानवता की सेवा कर रहे हैं।

इन्होंने लिया भाग

इससे पहले रेडक्रॉस का ध्वजारोहण किया गया। प्रार्थना के बाद सभी प्रतिभागियों ने योग कक्षा में भाग लिया। बच्चों को रेड क्रॉस के इतिहास और स्वयं सेवक बनने के कर्तव्यों से अवगत कराया गया। इस अवसर पर स्वामी वासुदेव जी, सामाजिक कार्यकर्ता प्रमोद गुप्ता, शिविर निदेशक रोहित शर्मा, बीवी कथूरिया, दर्शन भाटिया, पवन शर्मा आदि मौजूद थे।

झूमे दर्शक

हरियाणा की छोरियों और पंजाबी कुड़ियों ने विभिन्न गानों और भजनों की धुन पर जोरदार नृत्य प्रस्तुत किया। इन बच्चियों के नृत्य और सांस्कृतिक कार्यक्रम को देखकर पूरा सभागार देर रात तक तालियों की गड़गड़ाहट से गूंजता रहा। बच्चियों और प्रतिभागियों में डांस फीवर इस कदर चढ़ा कि कुछ बच्चियां स्टेज पर, तो कुछ स्टेज से नीचे और कुछ झूमती हुई नजर आईं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned