मथुरा में महिला ने दिया ट्रेन में बच्चे को दिया जन्म

- महिला यात्री ने ट्रेन में बच्चे को दिया जन्म
- दिल्ली से मध्य प्रदेश जा रहे थे भाई बहन
- मथुरा जंक्शन पर रुकी हुई ट्रेन में महिला ने दिया बच्चे को जन्म
- महिला जिला अस्पताल में उपचार के लिए कराया भर्ती
- संपर्क क्रांति में दिया महिला को जन्म

By: arun rawat

Published: 18 Jan 2021, 03:57 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क

मथुरा. दिल्ली से मध्य प्रदेश के लिए रवाना हुए ट्रेन ( Train ) में एक 30 वर्षीय महिला ने मथुरा रेलवे जंक्शन ( Mathura Station ) पर ट्रेन में बच्चे को जन्म ( Birth ) दिया था। इस दौरान ट्रेन सिग्नल न मिलने के कारण मथुरा रेलवे जंक्शन पर खड़ी हुई थी। इसी बीच किरण को तेज प्रसव पीड़ा हुई। सहायक उप निरीक्षक सज्जन कुमार ने महिला सिपाही को सूचना देकर कोच में बुलाया। इस दौरान उक्त महिला यात्री ने एक बेटे को जन्म दिया था।


दरअसल, मध्य प्रदेश के दमोह की रहने वाली 30 वर्षीय किरण अपने पति दिलीप के साथ राजस्थान में रहती हैं। दमोह से उनका भाई मोहन उन्हें लेने के लिए राजस्थान पहुंचा था। राजस्थान से बस द्वारा मोहन और उनकी बहन किरण दिल्ली निजामुद्दीन स्टेशन पहुंचे। यहां से मध्य प्रदेश संपर्क क्रांति ट्रेन ( Sampark Kranti ) के द्वारा दोनों दमोह जा रहे थे। इसी दौरान सिग्नल न मिलने के कारण ट्रेन मथुरा जंक्शन ( Mathura Station ) पर कुछ देर रुक गई. इस बीच किरण को तेज प्रसव पीड़ा हुई। जानकारी मिलने के बाद ट्रेन के ड्राइवर ने तकरीबन 8:50 पर एसीपी का हॉर्न ( Horn ) दिया। सूचना मिलने पर सहायक उप निरीक्षक सज्जन कुमार द्वारा समस्या को देखा। उन्होंने देखा कि कोच संख्या B3 सीट नंबर 69 पर एक महिला यात्री को प्रसव पीड़ा हो रही है। कोच के यात्रियों ने गाड़ी में एसीपी किया और महिला के प्रसव पीड़ा के बारे में बताया। उसी दौरान डिप्टी एसएस मथुरा जंक्शन ( Dupty SS ) आरके शर्मा कोच में पहुंचे तुरंत आरपीएफ महिला सिपाही ज्योति यादव को उक्त कोच में बुलाया गया।

 

महिला सिपाही ज्योति यादव ने प्रसव पीड़ित महिला यात्री की प्रसव पीड़ा में मदद की। उक्त महिला यात्री ने कोच में ही एक बच्चे को जन्म दिया। इसके बाद रेलवे एंबुलेंस ( Ambulence ) के माध्यम से आरक्षी उदयवीर सिंह और महिला सिपाही ज्योति यादव के साथ महिला यात्री को महिला जिला अस्पताल ( Woman District Hospital ) मथुरा में उपचार के लिए भर्ती करा दिया गया।

By - Nirmal Rajpoot

arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned