मथुरा के 'सोनू सूद' बने 'राहुल सिसौदिया', कोरोना काल में बचा रहे लोगों की जान

बैंगलोर में रहने वाली रिद्धि के परिजन को लखनऊ में प्लाज्मा की जरूरत थी राहुल की टीम ने वहां पहुंचकर मदद की।

By: arun rawat

Published: 22 Apr 2021, 11:38 AM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क

मथुरा। देश-दुनिया में कोरोना की दूसरी लहर ने हर किसी को हिलाकर रख दिया है। ऐसे दौर में देश में एक तरफ जहां कोरोना के मामले बेकाबू होते नजर आ रहे हैं। वहीं, कई राज्यों के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी के मामले भी लगातार सामने आ रहे हैं। हालात ये हैं कि राज्यों के मंत्री तक ऑक्सीजन की भयानक कमी के बारे में मदद के लिए केंद्र से लगातार गुहार लगा रहे हैं।

युवा समाजसेवी ने बढ़ाया हाथ
वही दूसरी तरफ ऐसे युवा सामने आएं है जो अपनी टीम के साथ इस जंग में घर से निकल के बाहर आए है। बात कान्हा की नगरी मथुरा में हौसलों की नई उड़ान देखने को मिली है। जहां युवा चेहरे राहुल सिसौदिया ने बताया कि बीते दिन ऐसी जिंदगी बचाई। वहीं, कोरोना संक्रमित युवक को वृंदावन में इलाज नही मिल रहा था। दवा के लिए मोहताज राहुल ने उसको नई जिंदगी देकर मथुरा अस्पताल में भर्ती कराया। दूसरी तरफ बैंगलोर में रहने वाली रिद्धि के परिजन को लखनऊ में प्लाज्मा की जरूरत थी राहुल की टीम ने वहां पहुंचकर मदद की। वहीं, कोरोना संक्रमित मरीज सुरेश पांडे वेंटीलेटर पर थे। उन्हें ए पॉजिटिव प्लाज्मा देकर मदद की।


20 हजार से अधिक बांटे चुके हैं मास्क और सेनिटाइजर
युवा समाजसेवी ने बताया कि देश भर में हालात ठीक नही है। मास्क से ही हम ज्यादा सुरक्षित रह सकते है। मास्क की कीमत 8 से 10 रु हो गई है। जिसके बाद उनकी पूरी टीम निश्शुल्क मास्क अभियान चला रही है ताकि कोई गरीब बिना मास्क के न रह जाए। वहीं लोगों के लिए एक नए नया सेंटर मथुरा में खोला गया। जहां निशुल्क दवा और थर्मल स्क्रीनिंग कराई जा रही है। देश में कोरोना के मामले में सबसे बड़ी उछाल आई है। पिछले 24 घंटे में 2 लाख 95 हजार से अधिक नए मामले सामने आए हैं और 2 हजार से अधिक लोगों की मौत हुई है। एक दिन में कोरोना के नए मामले और मौत का यह रिकॉर्ड है।

By - निर्मल राजपूत

arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned