पहली ही फिल्म से बॉलीवुड का चहेता बना मऊ का यह लाल

पहली ही फिल्म से बॉलीवुड का चहेता बना मऊ का यह लाल
Abdul Wahab

कई बड़े टीवी सीरियल्स में मनवा चुका है अपने अभिनय का लोहा

मऊ. जिले के कोपागंज थानाक्षेत्र का एक छोटा सा गांव है हरदासपुर। पर इस छोटे से गांव की बड़ी चर्चा न सिर्फ जिले में बल्कि मुंबई तक है। वजह हैं हरदासपुर के अब्दुल वहाब। उनकी फिल्म किसान कर्ज में आने के बाद लगातार वहाब की अदाकारी को सराहा जा रहा है। वहाब इसके पहले कई टीवी सीरियल्स में अपनी अदाकारी का हुनर दिखा चुके हैं। किसान कर्ज में शुक्रवार को रिलीज हुई तो वहाब की अदाकारी ने सबका मन मोह लिया।




पहले सावधान इण्डिया फिर तारक मेहता का उल्टा चश्मा, दिया बाती हम, सीआईडी और ये रिश्ता क्या कहलाता है जैसे सीरियल्स में अपनी अदाकारी दिखाकर वह निर्देशकों की नजर में पहले ही आ चुके थे। इसके बाद अब डायरेक्टर आसिफ पठान के निर्देशन में लेखन और अभिनय से वहाब ने शॉर्ट मूवी किसान कर्ज में है में अपने हुनर का जलवा बिखेरा है।




फिल्म के जरिये यह बताने की कोशिश की गई है कि गरीब किसान किन-किन परिस्थितियों से गुजरता है। साहूकार से कर्ज लेना, कर्ज अदा न कर पाना, घर की आर्थिक तंगी और आखिर में एक ही रास आत्महत्या। एक किसान की जिंदगी क सिलसिलेवार दुखों को इस फिल्म में बखूबी दिखाया गया है। इस दर्द को वहाब की अदाकारी ने और धार दी है।




हरदासपुर के अब्दुल वहाब 14 साल पहले मुंबई गए तो थे घरेलू जिम्मेदारियों को पूरा करने के लिये कुछ रोजगार की तलाश मकसद था। पर वहां जाने के बाद शौक ही रोजगार बन गया और वहाब की मेहनत उनकी मकबूलियत का जरिया बन गई। टीवी सीरियल्स में काम किया और फिर अब वह धीरे-धीरे बड़े पर्दे की ओर बढ़ रहे हैं।
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned