अमित शाह के गठबंधन ने बढ़ाई सपा की बौखलाहट

महापंचायत में उमड़ी भासपाइयों की भीड़ को देखकर सपा पिछड़ा वर्ग के प्रति हुई गंभीर

मऊ. जिले में भारतीय जनता पार्टी के अति पिछड़ा अति दलित महापंचायत के आयोजन में अमित शाह के गठबंधन करने के बाद सपा की बौखलाहट तेज हो गई है। महापंचायत में उमड़ी भासपाइयों की भीड़ को देखकर सपा आनन-फानन में पिछड़ा वर्ग के प्रति गंभीर हो गई है। इसके तहत पहले राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष रामाश्रय विश्वकर्मा ने आकर जिलाप्रशासन के संबधित अधिकारियों की क्लास लगाई। 

एससीएसटी आयोग के अध्यक्ष रामदुलार राजभर पार्टी कार्यालय पर पहुंचकर कार्यकर्ताओं को पिछड़ा वर्ग जाति के लोगों को सरकार द्वारा चलायी जा रही योजना के बारे में जानकारी दी। साथ ही मीडिया से बात करते हुए सपा मुखिया और अखिलेश को पिछड़ा वर्ग का हितैसी बताया है। साथ ही बसपा और भाजपा को पिछड़ा वर्ग का विरोधी बताया है।


उन्होंने कहा कि जिस तरह से सपा सरकार ने पिछड़ा वर्ग के लिए उनके हक अधिकार के लिए पहल किया वह बहुत ही सराहनीय था। कहा कि अखिलेश सरकार ने 10 अक्टूबर 2005 को 17 जातियों को पिछड़ा वर्ग में शामिल किया। जिन जातियों में लोग शामिल हुए उन्हें प्रमाण-पत्र भी देने की बात कही थी। लेकिन बीएसपी ने हाई कोर्ट में स्अे लेकर इस कार्य को रोक दिया। 

रामदुलार का कहना है कि बीजेपी के लोग यूपी में आकर पिछड़ी जाति वर्ग के लोगों को गुमराह करने के फिराक में लगे हुए हैं। जिनका उन्होंने पोल खोलने की बात कही। 

कहा कि इस बीजेपी सरकार से एक तरफ अधिकार, आरक्षण और अनु. जाति में शामिल करने की बात कहो तो प्रस्ताव वापस कर देते हैं। और बड़े मनसूबों से आकर इस समाज के लोगों को गुमराह करने में लगे हैं। अभी विभिन्न जिले में जिन लोगों ने उनका कार्यक्रम कराया। उनका समाज में कोई अस्तित्व नहीं है। 
Show More
sarveshwari Mishra
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned