सपा समर्थित प्रत्याशी के बूथ समेत 19 जगहों पर खराब हुई थी ईवीएम

समाजवादी पार्टी समर्थित उम्मीदवार सुधाकर सिंह ने तो ईवीएम ठीक हो जाने त नहीं डाला था वोट।

आजमगढ़. पूर्वांचल की वीआइपी सीटों में शामिल घोसी में हुए उपचुनाव के दौरान प्रशासन की आधी अधूरी तैयारी ने विपक्ष को सत्ता पर हमलावर होने का अवसर दे दिया। सोमवार को मतदान के दौरान सपा समर्थिक उम्मीदवार के बूथ सहित क्षेत्र के 19 मतदेय स्थलों पर इलेक्ट्रानिक वोटिग मशीन खराब हो गयी। इंजीनियरों के निरीक्षण के बावजूद प्रशिक्षण कमी के चलते 18 स्थानों पर वीवीपैट, सात बूथों पर कंट्रोल यूनिट और छह बूथों पर बैलट यूनिट बदलने में अधिकारी हांफते रहे। इससे विपक्ष को एक बार फिर इवीएम को लेकर घेरने का मौका मिल गया।


बता दें के सर्वप्रथम सपा समर्थित निर्दल प्रत्याशी सुधाकर सिंह के गांव में बूथ संख्या 168 प्राथमिक विद्यालय दादनपुर में माक पोल के दौरान ही वीवीपैट खराब हो गया। उसी दौरान खुद प्रत्याशी वोट डालने पहुंचे थे। प्रत्याशी ने इसका विरोध भी किया। नया वीवीपैट लगने के बाद कुछ देर तक मतदान हुआ। इसके बाद वह भी खराब हो गया। दस बजे के बाद फिर तीसरा वीवीपैट लगाया गया। इसके चलते यहां पर महिलाओं की लंबी कतार लग गई। पवनी के बूथ संख्या 223 पर भी ईवीएम की खराबी के चलते एक घंटा विलंब से मतदान प्रारंभ हुआ। बूथ संख्या 326 भांवरकोल, भोपौरा बूथ संख्या 91 एवं बूथ संख्या 230 खैरा मुहम्मदपुर में तकनीकी खराबी के चलते मतदान विलंब से प्रारंभ हुआ।

बूथ संख्या 34 अमिला में वीवीपैट, कंट्रोल यूनिट एवं बैलट यूनिट तीनों को बदलना पड़ा। पीवाताल बूथ संख्या 12, सिकरौर बूथ संख्या 217 एवं बूथ संख्या 162 भटौली मलिक में कंट्रोल यूनिट बदली गई। बूथ संख्या 19 बेलभद्रपुर, बूथ संख्या 401 जमीन डांड़ी और बूथ संख्या 352 प्राथमिक विद्यालय कोपागंज में बैलट यूनिट बदली गई। अहमदपुर असना, हाजीपुर दक्षिणी, खैरा मुहम्मदपुर, बरौली चक अब्दुर्रहमान, बूथ संख्या 121 जूनियर हाईस्कूल घोसी, बूथ संख्या 168 दादनपुर अहिरौली, बूथ संख्या 165 नदवल, बूथ संख्या 166 भावनपुर, बूथ संख्या 336 मदरसा कोपागंज, बूथ संख्या 369 देवकली विशुनपुर एवं बूथ संख्या 374 प्राथमिक विद्यालय अल्लीपुर में वीवीपैट की खराबी के चलते मतदान बाधित रहा।

सूचना मिलते ही सेक्टर मजिस्ट्रेट कंट्रोल रूम से दूसरी वीवीपैट यूनिट लेकर पहुंचे। सुबह 7.00 बजे से लेकर लगभग 9.00 बजे तक तो हाल यह रहा कि कंट्रोल रूम का फोन घनघनाता ही रहा। दोपहर में भी दो बूथों पर ईवीएम में दिक्कत आई। विपक्ष के लोग इसे सरकार की नाकामी बता रहे है। खुद सुधाकर सिंह ने कहा कि प्रशासन सत्ता के इशारे पर काम कर रहा है।

By Ran Vijay Singh

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned