UP में बीजेपी ने इस नेता को बनाया OBC का चेहरा, इस सीट से दे सकती है लोकसभा टिकट

इस बार का लोकसभा चुनाव की सियासत ओबीसी वोटों के इर्द-गिर्द घूमती नजर आ रही है। सपा-बसपा से लेकर बीजेपी तक ओबीसी कैंडिडेट पर दांव खेलने की जुगत में हैं।

मऊ. इस बार का लोकसभा चुनाव की पूरी सियासत पिछड़े और अति पिछड़े वोटों के इर्द-गिर्द सिमट चुकी है। समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी सत्ता में भागीदारी के लिये इन वोटों को साधने के लिये एकजुट हुए हैं तो बीजेपी 2014 की तरह ओबीसी वोटरों को अपने पाले मे बनाए रखने के लिये जुगत कर रही है। यहां तक कहा जा रहा है कि ये पार्टियां टिकट बंटवारे में ओबीसी को खासी तवज्जो दे सकती हैं।

 

Fagu Chauhan

 

भारतीय जनता पार्टी ने तो अभी से ही ओबीसी कार्ड खेलना शुरू कर दिया है। हालांकि उसके पास पहले से ही ओबीसी नेता हैं, लेकिन बदले समीकरणों को मद्देनजर रखते हुए बसपा छोड़कर आए ओबीसी नेता फागू चौहान को ओबीसी नेता के तौर पर भाजप आगे कर रही है। फागू चायैहान केा पिछड़ा वर्ग आयोग का अध्यक्ष बनाकर साफ कर दिया है कि इस बार लोकसभा चुनाव में वह ओबीसी वोट को किसी कीमत पर अपने पाले से खिसकने नहीं देना चाहती।

 

उत्तर प्रदेश और खासतौर से पूर्वांचल की सीटों पर ओबीसी की मजबूत उपस्थिति को देखते हुए बीजेपी ने फागू चौहान को आगे किया है। उने पिछड़ा वर्ग आयोग का अध्यक्ष बनाए जाने के बाद यह चर्चा चल निकली है कि वह घोसी से बीजेपी के लोकसभा प्रत्याशी भी हो सकते हैं। उनके नाम पर आलाकमान मुहर लगा सकता है। इसके बाद वह खुद सामने आए और इस चर्चा को खारिज नहीं किया, बल्कि कहा कि अगर पार्टी टिकट देगी तो वह जरूर चुनाव लड़ेंगे।

 

ओबीसी आयोग का अध्यक्ष बनाए जाने के बाद जब वह मऊ पहुंचे तो लोकसभा चुनाव लड़ने की चर्चा उनका पहले से इंतजार कर रही थी। उन्होंने भी इस चर्चा को और हवा देने में देर नहीं की। जिला पंचायत के डाक बंग्ले में मीडिया को बुलाया और कहा कि उन्हें जो जिम्मेदारी दी गयी है वह उसका निर्वहन पूरी इमानदारी से करेंगे। टिकट के सवाल पर कहा कि अब तक पार्टी ने जो भी दायित्व दिया है उसे निष्ठा और ईमानदारी के साथ पूरा किया है। मेरे ऊपर अब तक कोई आरोप भी नहीं लगा है। ऐसे में अगर पार्टी मुझे टिकट देगी तो लोकसभा चुनाव जरूर लड़ूंगा और नहीं देंगे तो नहीं लड़ेंगे।

 

हालांकि साथ ही यह भी कहा है कि वह न तो टिकट बांटने वाली कमेटी में हैं और न तो कोई ऐसे प्रभावी है पार्टी में जो कहदे कि टिकट दिलवा देगा। टिकट बंटवारे के लिये बहुत लोग बैठे हैं।

 

Fagu Chauhan

 

जानिये कौन हैं फागू चौहान

  • फागू चौहान का जन्म शेखूपुरा आजमगढ़ में हुआ
  • वह पिछड़ी जाति (चौहान) से आते हैं
  • 1985 में पहली बार दलित किसान मजदूर पार्टी से घोसी विधानसभा से विधायक बने
  • 1991 में जनता दल से विधायक चुने गए
  • 1906 व 2002 में भाजपा से विधायक बने
  • फिर बसपा में गए और 2007 में विधानसभा चुनाव जीते
  • 2017 का विधानसभा चुनाव फिर BJP से लड़े और विधायक बने
  • फागू चौहान राजनीतिक कार्यक्षेत्र मऊ रहा है।
  • मऊ की घोसी विधानसभा पर रिकार्ड छठीं बार विधायक हैं
  • मऊ में चौहान वोटों की अच्छी तादाद है जिनपर इनकी मजबूत पकड़ कही जाती है
BJP
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned