फर्जी डिग्री लगाकर नौकरी करने वालों पर आया बड़ा संकट, तीन निकाले गये तेजी से हो रही जांच

फर्जी डिग्री लगाकर नौकरी करने वालों पर आया बड़ा संकट, तीन निकाले गये तेजी से हो रही जांच
मार्च 2019 से लेकर अभी तक 31 फर्जी शिक्षक हो चुके है बर्खास्त

Ashish Kumar Shukla | Updated: 14 Sep 2019, 05:03:42 PM (IST) Mau, Mau, Uttar Pradesh, India

मार्च 2019 से लेकर अभी तक 31 फर्जी शिक्षक हो चुके है बर्खास्त

मऊ. यूपी के मऊ जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ओपी त्रिपाठी ने शनिवार को फर्जी डिग्री लगाकर नौकरी करने वाले दो अध्यापकों और एक अध्यापिका को बर्खास्त कर दिया। मार्च 2019 से लेकर अभी तक 31 फर्जी शिक्षक बर्खास्त किये गये। फर्जी डिग्री के आधार पर नौकरी करने वालों के खिलाफ शिकायत की गयी थी। जिसके बाद गोपनीय विभागीय जांच में फर्जी मिलने पर कार्य़वाही की जा रही है।

बतादे कि रानीपुर ब्लाक के मन्डुसरा गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय पर तैनात सहायक अध्यापक सुरेश सिहं यादव और दोहरीघाट ब्लाक के बंधनपुर गांव में स्थित प्राथमिक विद्यालय में तैनात सहायक अध्यापक राजेश यादव को बर्खास्त किया गया। इन दोनों ही अध्यापकों के बीए और बीएड की मार्कशीट में फर्जीवाङा मिला। वहीं मुहम्मदाबाद गोहना ब्लाक के नकदोंपुर प्राथमिक विद्यालय में तैनात सहायक अध्यापिक गीता देवी को भी बर्खास्त किया गया।

इनके बीए प्रमाण पत्र और अनुसूचित जाति के प्रमाण पत्र में फर्जीवाङा पाया गया है। इस मामलें पर बेशिक शिक्षा अधिकारी ओपी त्रिपाठी ने बताया कि अभी भी जांच चल रही है, जो भी जांच के दायरे में फर्जी पाये जायेंगे। उनकों बर्खास्त किया जायेगा। इसके साथ बर्खास्त अध्यापकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया गया है और वेतन वसूलने की कार्य़वाही की जायेगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned