आप सांसद संजय सिंह बोले- कृषि बिल किसानों के लिए डेथ वारंट

Highlights

- आप सांसद संजय सिंह ने गगोल गांव में किसानों के साथ की बैठक
- आम आदमी की रैली की तैयारियों के मददेनजर गांव में कर रहे संपर्क
- आगामी 28 फरवरी को है अरविंद केजरीवाल की मेरठ में किसान रैली

By: lokesh verma

Published: 22 Feb 2021, 01:23 PM IST

मेरठ. आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रभारी एवं राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने गगोल ग्रामसभा मेरठ में किसानों के साथ एक बैठक की। बैठक में दो दर्जन ग्रामीणों ने रविंद्र गुर्जर के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इस दौरान सांसद संजय सिंह ने कहा कि जिस दिन से यह बिल आया है, उसी दिन से वह इस बिल का विरोध कर रहे हैं। क्योंकि यह बिल किसानों के लिए डेथ वारंट है। इस बिल से किसान एवं किसानी दोनों खत्म हो जाएंगे। सिर्फ उद्योगपतियों को ही बढ़ावा मिलेगा। सामान्य एवं मझोले किसानों का रोजगार खत्म हो जाएगा। इस बिल की वापसी ही समस्या का समाधान है, अन्य कोई रास्ता नहीं है।

यह भी पढ़ें- खाप के मुखिया ने की भाजपा के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात, अब खाप के लोग देंगे ये अनोखा दंड

इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने कहा अब पूरे प्रदेश के किसान जागरूक हो गए हैं। सरकार यह समझती है कि हम किसानों को बहका लेंगे और वह हमारी चिकनी चुपड़ी बातों पर आ जाएगा। परंतु 70- 75 सालों से ठगा हुआ किसान अब उनकी बातों में नहीं आने वाला है। अब किसान आर-पार की लड़ाई में सीधे आ गए है। वह इस बिल को वापस करवाकर ही दम लेंगे। किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष महेश त्यागी ने कहा कि देश का प्रत्येक किसान सरकार की नीतियों के खिलाफ है। अगर सरकार नहीं मानी तो सरकार को आने वाले चुनाव में पता चल जाएगा। प्रदेश सचिव एवं जिला प्रभारी नवाब सोनी ने कहा के गांव-गांव टीम तैयार हो रही है जो आने वाले 28 फरवरी को किसान महापंचायत में लोगों को लाने की जिम्मेदारी उठाएंगे।

वहीं, जिला अध्यक्ष ओपी संत ने पार्टी में सम्मिलित होने वाले सभी व्यक्तियों को बधाई देते हुए कहा कि आप सभी लोगों के जुड़ने से किसान आंदोलन और पार्टी को मजबूती मिलेगी। कार्यक्रम का संचालन जिला महासचिव अभिषेक द्विवेदी ने किया। इस अवसर पर आज पार्टी ज्वाइन करने वालों में रविंद्र गुर्जर, अमित शर्मा, अश्वनी कुमार अच्छे प्रधान, असलम मलिक, अंकुर जैन, मनोज जाटव सोनू सिंह, वकील अहमद, नूर मोहम्मद, सानू, अजीमुद्दीन ठेकेदार, शकील अहमद,, आशु, करीमुद्दीन,फरियाद सैफी, मयंक अमित खेड़ा, और मोहम्मद राहुल प्रमुख थे।

यह भी पढ़ें- कृषि कानूनों को लेकर किसानों के बीच पहुंचे भाजपा नेताओं के प्रतिनिधिमंडल का विरोध

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned