बिकरु कांड मामले में जेल गई खुशी की रिहाई के लिए आगे आई 'आप'

प्रदर्शन कर राज्यपाल को भेजा ज्ञापन, आप ने भाजपा सरकार को बताया महिला विरोधी, खुशी सहित चार अन्य महिलाओं को तत्काल रिहा करने की मांग

By: shivmani tyagi

Updated: 11 Jun 2021, 06:41 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क
मेरठ. बिकरु कांड ( Bikru scandal ) में खुशी दुबे, क्षमा दुबे, शांति दुबे, रेखा अग्निहोत्री व उसके मासूम बेटे की रिहाइ के लिए आप पार्टी आगे आई है। आप ने प्रदर्शन करते हुए प्रशासन के माध्यम से राज्यपाल ( Governor ) को ज्ञापन भेजा है।

यह भी पढ़ें: फर्जी आरटीओ बनकर हाईवे पर कर रहे थे चेकिंग पुलिस ने तीन लोगों से किए 45 हजार बरामद

इस क्रम में प्रदेश भर में आम आदमी पार्टी ( Aam Aadmi Party ) ने कानपुर के बिकरु कांड मामले में जेल में बंद खुशी दुबे समेत चार महिलाओं की रिहाई के लिए आवाज उठाई। ज्ञापन के जरिये आम आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष अंकुश चौधरी की ओर से प्रशासन के माध्यम से राज्यपाल को अवगत कराया गया है कि कानपुर के बिकरु कांड में कई महिलाओं को नियम क़ानून को ताक पर रखकर पिछले 10 महीनों से जेल में रखा गया है जिसमें ख़ुशी दुबे पत्नी अमर दुबे, अमर दुबे की माँ क्षमा दुबे, विकास दुबे की नौकरानी रेखा अग्निहोत्री व हीरू दुबे की माँ शांति दुबे शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: पत्नी के फोन में पति ने देखा कुछ ऐसा सब्जी काटने के चाकू से रेत दी गर्दन

बिकरु काण्ड में अमर दुबे के एनकाउंटर से तीन दिन पहले ख़ुशी दुबे से उसकी शादी हुई थी। पुलिस के रिकॉर्ड में ख़ुशी दुबे के विरुद्ध पहले से कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं था। ख़ुशी दुबे नाबालिग है उसकी गिरफ़्तारी के बाद जब मीडिया में मामले ने तूल पकड़ा तो कानपुर के तत्कालीन एसएसपी दिनेश कुमार ( ssp dinesh kumar ) ने मीडिया में बयान दिया की ख़ुशी दुबे निर्दोष है और उसको रिहा कर दिया जाएगा। पिछले 10 महीने से ख़ुशी दुबे जेल में है। कई बार उसे अति गंभीर हालत में बाराबंकी व लखनऊ के अस्पतालों में भर्ती कराया गया उसको खून की उल्टियां हुईं।

यह भी पढ़ें: केवल चंबल सेंक्चुरी में मिलते हैं दुर्लभ 'साल कछुए', बढ़ रही इनकी संख्या, जानें खासियत

इन घटनाओं से परिवार के लोग डरे और सहमे हुए हैं और उन्हें अपनी बेटी के जीवन की चिंता है कि कहीं जेल में उसके साथ कोई अनहोनी न हो जाए, उसका जीवन न चला जाए। आप का आरोप है कि इसी तरह अमर दुबे की मां क्षमा दुबे को भी पिछले 10 महीने से जेल में रखा गया है, पुलिस प्रशासन और सरकार यह बताने में नाकाम है कि अमर दुबे की मां क्षमा दुबे क्यों जेल में बंद है। इस संबंध में पुलिस प्रशासन कोई ठोस प्रमाण नहीं दे पाया है। जिलाध्यक्ष ने आरोप लगाया कि प्रदेश में आदित्यनाथ की सरकार प्रतिशोध, दुर्भावना और नफरत के आधार पर काम कर रही है। इसको लेकर लोगों के मन में भारी कष्ट और रोष है।

यह भी पढ़ें: महंगाई आम जनमानस की तोड़ रही है कमर : प्रियंका गांधी

यह भी पढ़ें: नोएडा के कॉल सेंटर में लगी भीषण आग, आस-पास खड़ी गाड़ियां भी जली

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned