अवैध खनन करने वालों की अब खैर नहीं, डीएम ने उठाया बड़ा कदम

Highlights

-खनिज खनन के अवैध परिवहन पर रोेक के लिए जारी किए निर्देश

-पंजीकृत वाहनों को लगाना होगा माइन टैग

-परिवहन भिाग में लगेगा

By: Rahul Chauhan

Published: 20 Oct 2020, 01:32 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क मेरठ। डीएम के बालाजी ने अवैध खनन के खिलाफ शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। अब जिले में खनिजों के परिवहन के पंजीकृत वाहनों पर माइन टैग लगाना अनिवार्य होगा। इससे अवैध खनिज के खनन और उनके परिवहन पर रोक लगेगी।

पोर्टल और हैल्पडेस्क नंबर से प्राप्त किया जाएगा टैग :—

डीएम ने बताया कि निदेशक भूतत्व एवं खनिकर्म लखनऊ के द्वारा अवगत कराया गया है कि इंटीग्रेटेड माइनिंग सर्विलांस सिस्टम के अंतर्गत प्रदेश में उप खनिजों का परिवहन करने वाले वाहनों का पंजीकरण भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग के पोर्टल mining.up.work121.com की व्यवस्था लागू की गई थी। तकनीकी कारणों से उक्त पोर्टल के स्थान पर वर्तमान में वाहनों के पंजीकरण हेतु विभागीय पोर्टल updgm.in को विकसित किया गया है। mining.up.work121.com पर पूर्व में पंजीकृत वाहनों के पंजीकरण की आवश्यकता नहीं होगी।

जिलाधिकारी ने बताया कि अवैध परिवहन पर प्रभावी अंकुश लगाए जाने हेतु प्रदेश में उप खनिजों का परिवहन करने वाले पंजीकृत वाहनों पर आरएफआईडी टैग लगाए जाने की व्यवस्था लागू की गई है। टैग का क्रय www.minetags.in पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन भुगतान कर किया जा सकता है। आरएफआईडी टैग से संबंधित समस्त जानकारी पोर्टल पर दिए गए हेल्पडेस्क नंबर 8800191126 से प्राप्त की जा सकती है।

खनिज कार्यालय में लगेगा कैंप :—

उन्होंने बताया कि शासन द्वारा उप खनिज यथा बालू ,बजरी ,मोरम, गिट्टी आदि का परिवहन करने वाले पंजीकृत वाहनों में माइन टैग लगाना आवश्यक होगा। जिले में खनिजों के परिवहन हेतु पंजीकृत वाहन स्वामियों को सूचित किया जाता है कि वह अपने वाहनों पर माइन टैग लगवाएं। उन्होंने कहा कि माइन टैग सहज उपलब्ध कराने हेतु दिनांक 21 अक्टूबर 2020 को कलेक्ट्रेट मेरठ स्थित खनिज कार्यालय मेरठ में कैंप का आयोजन किया जा रहा है।

डीएम ने बताया कि जिन वाहनों स्वामियों द्वारा अपने वाहन का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन नहीं कराया गया है वह भी अपने वाहन की आरसी व अपनी आईडी लेकर उक्त कैंप में प्रतिभाग करना सुनिश्चित करें ताकि संबंधित वाहनों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर माइन टैग लगाए जाने की कार्यवाही की जाएगी। संबंधित वाहन स्वामी उक्त कैंप में उपस्थित होकर अपने-अपने वाहनों के लिए माइन टैग प्राप्त करना सुनिश्चित करें।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned