Breaking: कुख्यात डॉन बदन सिंह बद्दो की आलीशान कोठी को जमींदोज करने के लिए चली जेसीबी

Highlights
- छावनी में तब्दील हुआ पंजाबीपुरा इलाका
- कोठी के धराशाही होने पर नहीं किया किसी ने विरोध
- दो जेसीबी और मजदूरों ने धराशाई कर दी कुख्यात की आलीशान कोठी

By: lokesh verma

Published: 21 Jan 2021, 01:58 PM IST

मेरठ. आखिरकार ढाई लाख के इनामी कुख्यात बदन सिंह बददों की आलीशान कोठी पर बुधवार जेसीबी चल ही गई। कोठी के ध्वस्तीकरण की कार्रवाई के दौरान पंजाबीपुरा छावनी बना हुआ था। हिस्ट्रीशीटर बदन सिंह बद्दो की कोठी को तोड़ने के लिए पुलिस जेसीबी और लेबर पहुंची। सबसे पहले जेसीबी कोठी तक ले जाने के लिए मुख्य गेट का कुछ हिस्सा तोड़ा गया। इसके बाद कोठी को जमींदोज करने की कार्रवाई की गई। इस दौरान कार्रवाई देखने के लिए पंजाबीपुरा में आसपास के लोगों की भीड़ लग गई।

यह भी पढ़ें- मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद के बाद आज इस कुख्यात डॉन की कोठी होगी जमींदोज

मेरठ विकास प्राधिकरण के अफसरों ने बद्दो के पड़ोसी विश्व बंधु को दोबारा दीवार बना कर देने का भरोसा दिलाया। उसके बाद ही दीवार गिराई गई। दीवार गिराने के बाद कोठी ध्वस्त करने की कार्रवाई शुरू कर दी गई। दो जेसीबी और लेबर के साथ सुरक्षा के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल और एमडीए की टीम भी मौके पर मौजूद रही। सबसे पहले मुख्य गेट का कुछ हिस्सा तोड़कर जेसीबी ने अंदर प्रवेश किया। कोठी को जमींदोज होते देखने के लिए आसपास के लोगों की भारी भीड़ जमा है।

बता दें कि मेरठ के प्रशासनिक अफसरों ने इसके लिए पहले से ही तैयारियां कर ली थी। गुरुवार सुबह 9 बजे से ही पुलिस बल और अफसर बद्दो की कोठी को जमींदोज करने के लिए पहुंच गए थे। शहर के पंजाबीपुरा स्थित कोठी पर बुल्डोजर चला दिया गया। यहां बता दें कि ढाई लाख के इनामी बदन सिंह बद्दो की फरारी के बाद पुलिस ने पहले कुर्की की कार्रवाई थी। उसके बाद कोठी को जमींदोज करने की कार्रवाई शुरू गई। इसके लिए मेरठ विकास प्राधिकरण ने डीएम और एसएसपी को पत्र जारी कर फोर्स मांगी थी। ब्रह्मपुरी सर्किल के तीनों थानों के अलावा पीएसी और आरएएफ के जवान मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- विधायक विजय मिश्रा और उनकी पत्नी आय पर अब आय से अधिक सम्पत्ति का मामला, दर्ज हुआ मुकदमा

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned