VIDEO: बिजली के गोदाम में आग लगने में कड़ा एक्शन, अधिशासी अभियंता समेत तीन अफसर निलंबित, एसई का ट्रांसफर

Highlights

  • पीवीवीएनएल के विद्युत भंडार केंद्र में हुआ करोड़ों का नुकसान
  • आग इतनी भयंकर थी कि पुलिस के साथ बुलायी गई थी सेना
  • एमडी अरविंद मलप्पा बंगारी ने आग लगने की जांच शुरू कराई

 

 

 

By: sanjay sharma

Published: 01 Jan 2020, 01:52 PM IST

मेरठ। विक्टोरिया पार्क स्थित पीवीवीएनएल विद्युत भंडार केंद्र में लगी आग के मामले में प्रबंध निदेशक अरविंद मल्लपा बंगारी ने कड़ा एक्शन लेते हुए अधिशासी अभियंता, सहायक अभियंता को निलंबित कर दिया है। जबकि विद्युत भंडार मंडल के अधीक्षण अभियंता आईपी सिंह को चार्जशीट जारी कर उनका स्थानांतरण संभल कर दिया गया है। इसके साथ ही एक उच्चस्तरीय जांच समिति भी गठित कर दी गई है। प्रबंध निदंशक ने अधिशासी अभियंता प्रवीण कुमार, सहायक अभियंता मोहित शर्मा, सहायक भंडारी सुधीर कुमार को निलंबित कर दिया। उन्होंने कहा कि आग लगने के कारण व नुकसान की जांच कराई जा रही है। भंडार केंद्र पर तैनात अभियंताओं व सहायक भंडारी पर प्राथमिकी कार्रवाई की गई है, जो भी मामले में दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ेंः Today Gold Silver Rate: नए साल की शुरुआत में ही सोना-चांदी में राहत, ये रहे आज के भाव

बता दें कि जहां आग लगी उससे 10 कदम दूर ड्रमों में तेल रखा था। विद्युत भंडार केंद्र में जिन दो शेडों में आग लगी थी, वे पूरी तरह से बंद थे। जिसकी वजह से आग की लपटें शेड के बाहर नहींं निकल सकी। वरना तबाही का मंजर और भयावह होता। दरअसल, शेड से महज 10 कदम की दूरी पर 100 से ज्यादा ट्रांसफार्मर और 50 से ज्यादा ड्रमों में ट्रांसफार्मर का तेल रखा हुआ था। कर्मचारियों की मानें तो विद्युत भंडार मंडल के अधीक्षण अभियंता आईपी सिंह ने सतर्कता दिखाई और कर्मचारियों को लगाकर शेड के समीप रखे ट्रांसफार्मरों व ज्वलनशील सामग्री को हटवाया और सड़क की तरफ शेड को तोड़ गया। जिससे ये सामग्री आग की लपटों की चपेट में नहीं आ सकी।

यह भी पढ़ेंः भाजपा का आरोप- CAA को लेकर भड़की हिंसा के पीछे आईएसआई का हाथ, देखें वीडियो

Show More
sanjay sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned