scriptancient carol song is sung on the occasion of Christmas, the tradition | Christmas Day Carol Song : विश्व भर में क्रिसमस से जुड़ी है ये प्राचीन परंपरा, ईसा जन्म के समय गाया गया था ये पहला गीत | Patrika News

Christmas Day Carol Song : विश्व भर में क्रिसमस से जुड़ी है ये प्राचीन परंपरा, ईसा जन्म के समय गाया गया था ये पहला गीत

Christmas Day Carol Song : देश में तमाम तरह के धार्मिक पर्व और उनसे जुड़ी मान्यताएं हैं। लेकिन क्रिसमस पर्व जो कि पूरे विश्व में 25 दिसंबर को एक साथ मनाया जाता है। क्रिसमस पूरे विश्च में सभी देशों में अपने—अपने तरीके से मनाया जाता है। लेकिन इस क्रिसमस के मौके पर एक ऐसी परंपरा है जो कि प्रभु ईंशु के जन्म के बाद से पूरे विश्व में आज भी कायम है। वो है कैरोल गीतों की। क्या है कैरोल गीत और आखिर ये क्यों गाए जाते हैं चलिए बताते हैं।

मेरठ

Updated: December 24, 2021 07:20:41 pm

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. Christmas Day Carol Song : क्रिसमस नजदीक आते ही क्रिश्चन बस्तियों में कैरोल गीतों की धूम शुरू हो जाती है। शाम और देर रात तक समुदाय के लोग बस्तियों में कैरोल गीत गाते नजर आते हैं। ये कैरोल गीत सुनने के बाद दिल में उतर जाते हैं। इन गीतों केा सुनकर ही अपने आप में एक अजीब तरह का अहसास होता है। ये कहना है पास्टर फिनी अब्राहम का। जिन्होंने कैरोल गीतों से जुड़ी जानकारी पत्रिका के साथ शेयर की।
Carol Songs : विश्व भर में क्रिसमस से जुड़ी है ये प्राचीन परंपरा, ईसा जन्म के समय गाया गया था ये पहला गीत
Carol Songs : विश्व भर में क्रिसमस से जुड़ी है ये प्राचीन परंपरा, ईसा जन्म के समय गाया गया था ये पहला गीत

ईसा जन्म से पूर्व स्वर्ग दूतों ने गाया था कैरोल गीत
पास्टर फिनी अब्राहम बताते हैं कि कैरोल गीत प्रभु ईसा के जन्म के समय से भी पहले गाए गए थे। उन्होंने बताया कि जब प्रभु का जन्म होना था तो स्वर्ग दूत जंगल में गड़रियों को लकड़ी जलाकर आग तापते हुए देखकर उनके पास आए और कहा कि प्रभु का जन्म होने वाला है। उसके बाद देवदूत मंगल गीत गाने लगे। उन्हें गीत गाता देख गड़रियों ने भी गीत गाना शुरू का दिया। उसके बाद जब आधी रात को प्रभु ईशु का जन्म हुआ उससे पहले तक ये गीत गाए गए। पास्टर ने बताया कि चूकि ईशु का जन्म बेथलेहम में हुआ था। वहां पर इन गीतों को कैरोल कहा जाता है। तभी से कैरोल गीत (Carol Song) हर क्रिसमस के मौके पर गाए जाते हैं।
यह भी पढ़े : Merry Christmas 2021 : उपहारों से सजे बाजार, सैंटा क्लॉज की ड्रेस और क्रिसमस ट्री पर महंगाई की मार


20 दिसंबर से शुरू हो जाते हैं कैरोल सांग्स (Carol Songs start from 20th December)
पास्टर फिनी अब्राहम ने बताया कि 20 दिसंबर से कैरोल गीतों की शुरूआत हो जाती है। समुदाय के लोग बस्तियों में जाकर कैरोल गीत गाते हैं। वे लोगों को बताते हैं कि प्रभु ईशु का जन्म होने वाला है। इसलिए वे अभी से तैयारियों में जुट जाए।

ईशु के जन्म से पहले गाया जाना वाला कैरोल गीत (carol sung before the birth of jesus)
पास्टर इब्राहीम ने बताया कि ईशु के जन्म के समय कैरोल गीत जो गया था वह है, ''आया है ईशु आया है आया मसीह तू गुनहगारों को देने सहारा''। उन्होंने बताया कि इस मौके पर वे घर—घर जाते हैं और लोगों को जागृत करते हैं। भजनों को गाते हैं। जिन्हें कैरल गीत कहा जाता है। उनकी शिक्षाओं के बारे में लोगों केा बताते हैं।
उन्होंने बताया कि वैसे तो बहुत सारे कैरल सांग्स हैं। लेकिन उनमें जो कि आज भी काफी प्रचलित है वह है—'आया है ईशु आया है, आया मसीह तू गुनहगारों को देने सहारा। इसके अलावा ''बैथलेहम के गोशाला में चमका एक सितारा''ईसामसीह के जन्म के समय से ही गाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अब तो काफी कैरल सांग्स आ चुके हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

बिहार में बड़ा हादसा: गंडक नदी में डूबा ट्रैक्टर, हादसे में 2 लोगों की मौत, 20 लापताभारत ने निर्धारित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर बैन 28 फरवरी तक बढ़ायासानिया मिर्जा ने किया संन्यास का ऐलान, बोलीं-'मेरा शरीर खराब हो रहा है'UP Assembly Elections 2022 : अखिलेश यादव ने कहा सपा की सरकार बनी तो महिलाओं को देंगे 1500 रुपये प्रति महीने पेंशनMaharashtra Nagar Panchayat Election Result: 106 नगरपंचायतों के चुनावों की वोटों की गिनती जारी, कई दिग्‍गजों की प्रतिष्‍ठा दांव परकोई बना दिल का राजा तो किसी को जनता ने बताया नकारा, मंत्रियों पर हुए सर्वे में खुलासाOBC Reservation: ओबीसी राजनीतिक आरक्षण पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, आ सकता है बड़ा फैसलाUP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.