मोबाइल में नही था आरोग्य सेतु ऐप, प्रथम श्रेणी के टिकट पर भी टीई ने नहीं करने दी ट्रेन में यात्रा

  • बिना आरोग्य सेतु ऐप के यात्रियों को नहीं करने दे रही रेलवे यात्रा
  • टीई के सामने गिडगिडाने का भी नहीं हुआ कोई लाभ
  • टीई ने कहा आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करो और यात्रा पर जाओ

By: shivmani tyagi

Updated: 21 Sep 2020, 08:58 PM IST

मेरठ ( Meerut ) ट्रेन से सफर करने की तैयारी कर रहे हैं तो अपने माेबाइल आराेग्य ऐप ( Aarogya Setu App ) इंस्टॉल कर लीजिए। ऐसा हाे सकता है कि टीई ( टिकट एग्जामिनर ) आपको ट्रेन में बैठने ही ना दे। यह हिदायत यूं ही नहीं दी जा रही। दरअसल ऐसा एक मामला मेरठ में सामने आया है।

यह भी पढ़ें: यूपी: 300 रुपये के बंटवारे काे लेकर तीन दाेस्तों ने किया चाैथे का कत्ल

यहां एक यात्री स्टेशन पहुंचा। इस यात्री के पास नंदा देवी एक्सप्रेस का प्रथम श्रेणी ( AC First Class Ticket ) का टिकट था लेकिन मोबाइल फोन में अरोग्य ऐप नहीं था। इसी बात पर यात्री काे टीसी ने यात्रा करने से रोक दिया गय और ट्रेन में सवार ही नहीं हाेने दिया। हालांकि इस दौरान यात्री ने मोबाइल पर ऐप डाउनलोड करने की बात कही लेकिन टीई ने साफ मना कर दिया। टीई का कहना था कि पहले ऐप डाउनलोड करें इसके बाद ही उनको ट्रेन में बैठने की अनुमति मिल सकती है।

यह भी पढ़ें: एक हजार एकड़ में बनकर तैयार हाेगी देश की 'सबसे खूबसूरत' फिल्म सिटी ! प्रस्ताव तैयार

थाना टीपी नगर क्षेत्र के बागपत रोड की कुंज विहार के रहने वाले अनित ने नंदा देवी एक्सप्रेस की थर्ड एसी में टिकट बुक कराया था। सीट कंफर्म होने पर अनित तड़के सिटी स्टेशन पहुंचे। ट्रेन भी अपने निर्धारित समय 3:30 पर प्लेटफार्म पर आ गई थी। स्टेशन के मुख्य द्वार पर अनित को टीसी ने चेक करने के लिए रोका। टीसी ने उन्हें मोबाइल में आरोग्य ऐप दिखाने के लिए कहा जाे उनके फाेन में नहीं था। अनित ने बताया कि मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड नहीं है। इस पर टीसी ने कोविड-19 को लेकर रेलवे द्वारा बनाई गई गाइड लाइन का हवाला देकर बिना ऐप के यात्रा की अनुमति देने से मना कर दिया।

यह भी पढ़ें: मुख्यमंत्री का ऐलान दिवंगत मंत्री चेतन चौहान के नाम से जाना जाएगा मुरादाबाद का होमगार्ड ट्रेनिंग सेंटर

अनित ने ऐप डाउनलोड करने के लिए मोबाइल में रिचार्ज खत्म होने की बात कहकर यात्रा के दौरान करा लेने के लिए कहा लेकिन टीसी ने इससे भी साफ मना कर दिया। टीसी का कहना था कि बिना आरोग्य सेतु ऐप के किसी भी यात्री को रेलवे में यात्रा की अनुमति नहीं है। इस बीच नंदा देवी ट्रेन रुकने का निर्धारित दो मिनट का समय पूरा हुआ और वह यात्री के सामने से गुजर गई। यात्री अनित को वापस घर लौटना पड़ा।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned