पश्चिम के कुख्यातों पर पुलिस ने कसा शिकंजा, करोड़ों की संपत्तियां कुर्क

  • योगेश भदौड़ा द्वारा कब्जाई गई करोड़ों की अवैध संपति कब्जा मुक्त
  • पुलिस ने भदौड़ा से मुक्त कराया तलाब का कब्जा
  • शराब माफिया की संपति भी कुर्क की गई

By: shivmani tyagi

Updated: 29 Sep 2020, 09:04 PM IST

मेरठ ( Meerut ) पुलिस ( up police ) ने पश्चिम उप्र के कुख्यात योगेश भदौड़ा द्वारा कब्जाई गई करोडों की अवैध संपति को कब्जा मुक्त कराया है। एसएसपी अजय साहनी ने निर्देश पर चलाए अभियान के तहत एएसपी कृष्ण कुमार विश्नोई के नेतृत्व में पुलिस व राजस्व विभाग की संयुक्त टीम ने रविवार को रोहटा थाना क्षेत्र के गांव भदौड़ा में माफिया योगेश भदौड़ा पुत्र भोपाल सिंह के द्वारा एक बड़े तालाब पर किये गये अवैध कब्जे को हटवाया गया।

यह भी पढ़ें: डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या करने वाले कुख्यात सुनील राठी की सवा करोड़ की संपत्ति कुर्क

ग्राम सभा के इस तालाब पर माफिया योगेश भदौडा द्वारा चारदीवारी की नीव भरवायी गयी थी और आगे मकान बनाये जाने का कार्य भी करवाया जा रहा था। जमीन पर कृषि कार्य भी किया जा रहा था। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर एसडीएम सदर मेरठ को इस बाबत लिखित सूचना दी गयी थी।
राजस्व विभाग व पुलिस की टीम द्वारा योगेश भदौडा द्वारा कब्जायी हुए तालाब की पैमाइश की गयी थी। जिसमें योगेश भदौड़ा का कब्जा करना पया गया। इस जमीन की अनुमानित कीमत लगभग 4.50 करोड़ रूपये आंकी गई।

यह भी पढ़ें: प्रस्तावित फिल्म सिटी के साइट को देखने के लिए अपर मुख्य सचिव ग्रेटर नोएडा पहुंचे

आपको बता दे कि योगेश भदौड़ा पर मेरठ समेत अन्य जिलों में करीब 45 केस दर्ज हैं। योगेश भदौड़ा का मेरठ ही नहीं पश्चिम उप्र में भी काफी खौफ है। योगेश भदौड़ा और उधम सिंह की आपसी दुश्मनी किसी से छिपी नहीं है। दुश्मनी में अब तक दोनों ओर से कई लोगों की जान जा चुकी है। कुख्यात योगेश पर शिकंजा कसे जाने के बाद से उसके समर्थकों में खौफ है। इस संबंध में थाना रोहटा में मुकदमा दर्ज कार्रवाई की जा रही है।

यह भी पढ़ें: कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद मजबूत हुए फाैज के हाथ, देखें विश्लेषण

एसपी देहात अविनाश पांडे ने बताया कि किसी भी कब्जाई गई जमीन को मुक्त कराना प्रशासन और पुलिस का काम है। चिहिन्त जमीनों को कब्जा मुक्त कराया जाएगा। एसपी क्राइम रामअर्ज ने बताया कि इसी के साथ शराब माफिया रमेश प्रधान की भी संपति कुर्क की गई है। इसके अंतगर्त अवैध शराब के कारोबार से अर्जित की गई संपति को कुर्क कराया गया है। जिसकी कीमत 1 करोड 50 लाख है।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned