कानपुर के बाद अब मेरठ में जमीनी विवाद के दौरान पुलिस पर हमला, आधा दर्जन घायल

Highlights
- Meerut पुलिस ने कठोर कार्रवाई करते हुए 8 लोग पकड़े
- सिवालखास में विवाद की सूचना पर पहुंची थी पुलिस
- आरोपियों से बरामद हुए हथियार

By: lokesh verma

Published: 17 Jul 2020, 11:10 AM IST

मेरठ. कानपुर के बाद अब मेरठ में जमीनी विवाद की सूचना पर पहुंची पुलिस पर एक पक्ष ने हमला कर दिया। पुलिस पार्टी पर हमले की जानकारी से थाने से एसएसपी कार्यालय तक हड़कंप मच गया। मौके पर अन्य थानों की फोर्स को भेजा गया। जब जाकर स्थिति को काबू में किया जा सका। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 8 लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

यह भी पढ़ें- Whatsapp ग्रुप में व्यापारी ने डाल दिया सीएम योगी का आपत्तिजनक वीडियो, फिर हुआ बड़ा बवाल

दरअसल, यह घटना थाना जानी क्षेत्र के सिवालखास की है। जहां पर दो पक्षो में जमीनी विवाद को लेकर झगड़ा हो गया। दोनों पक्षों की ओर से जमकर ईंट-पत्थर चले। जमीन विवाद की सूचना पर पहुंची पुलिस टीम को भी आरोपियों ने अपना निशाना बना लिया। बताया गया है कि जमीन विवाद में हो रही मारपीट की सूचना पर जब पुलिस वहां पहुंची तो हमलावरों ने पुलिस पार्टी पर भी धावा बोल दिया। हालांकि घटना मे कोई पुलिसकर्मी जख्मी नहीं हुआ। माहौल बिगड़ता देख थाने से बड़ी संख्या में पुलिस पदाधिकारी और जवानों को घटना स्थल पर बुला लिया गया।

निरोधात्मक कार्रवाई के तहत पुलिस ने 8 हमलावरों को खदेड़कर पकड़ लिया। घटनास्थल से पुलिस ने अवैध हथियार और जिंदा कारतूस भी बरामद किए हैं। एसपी देहात ने बताया कि मामले में कार्रवाई की जा रही है। मारपीट में जख्मी आधा दर्जन लोगों को पीएचसी में भर्ती कराया गया हैं, जिसमें एक की हालत गंभीर बतायी जा रही है। घटना स्थल पर एक पक्ष ने दहशत फैलाने के लिए हवा में कई राउंड गोलियां भी चलायी हैं। बताया जा रहा है कि सिवालखास में दो पक्षों के बीच पूर्व से ही जमीन विवाद चल रहा है। गुरुवार को एक पक्ष विवादित जमीन पर कब्जा लेने के लिए पहुंचा था। इस पर दूसरे पक्ष के लोगों ने धावा बोल दिया। बताया जाता है कि दोनों पक्ष के सहयोगी हथियारों से लैस थे और उन लोगों ने एक-दूसरे के साथ जमकर मारपीट की। मारपीट में तीन महिलाएं समेत कई लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए।

एसपी देहात ने बताया कि पुलिस पर हमले जैसी कोई बात नहीं है। दो पक्षों का जमीनी विवाद था। थाना पुलिस ने सख्त कार्रवाई करते हुए आठ लोग हिरासत में लिए हैं। उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जा रही है।

यह भी पढ़ें- RSS प्रचारक को गुरू बनाकर शाहीन तोड़ रही मुस्लिम महिलाओं की अज्ञानता की बेड़ियां

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned