scriptBefore giving zakat online,know thing,zakat going to PFI account? | online zakat : आनलाइन जकात देने से पहले जाने ये बात, कहीं पीएफआई के खाते में तो नहीं जा रही जकात | Patrika News

online zakat : आनलाइन जकात देने से पहले जाने ये बात, कहीं पीएफआई के खाते में तो नहीं जा रही जकात

online zakat सदक़ा जिसे कि ज़कात कहा जाता है जो कि गरीबों और ज़रूरतमंदों के लिए है। यह उन लोगों के लिए भी है जो ज़कात इकट्ठा करने के लिए और दिलों को एक साथ लाने के लिए इस्लाम के लिए और बंदियों को मुक्त करने के लिए और कर्ज में और अल्लाह के कारण के लिए है। लेकिन जकात देने से पहले यह भी जान लेना जरूरी है कि आनलाइन दी जा रही जकात कही पीएफआई या अन्य गलत खाते में तो नहीं जा रही। उलमाओं ने जकात देने से पहले इसके बारे में चेताया है।

मेरठ

Published: April 21, 2022 02:47:32 pm

online zakat इन दिनों रामजान का पवित्र महीना चल रहा है। आगामी 4 मई को ईद मनाई जाएगी। रमजान में मुस्लिम लोग जकात निकाला करते हैं। जकात इस्लाम के पांच प्रमुख स्तंभों में से एक है। इसके महत्व का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसे कुरान में 28 बार नमाज़ (नमाज़) से जोड़ा गया है। उलमाओं ने जकात निकालने से पहले या देने से पहले यह भलीभांति देख लेने को कहा कि उनके द्वारा दी जा रही जकात सही तरह से इस्तेमाल हो रही है। उलमाओं ने मुस्लिमों को आगाह किया है कि इस समय रमज़ान की शुरुआत के साथ ही कई संगठन ज़कात के लिए विज्ञापन आदि देकर विभिन्न मीडिया प्लेटफार्मों पर जमा हो गए।
online zakat : आनलाइन जकात देने से पहले जाने ये बात, कहीं पीएफआई के खाते में तो नहीं जा रही जकात
online zakat : आनलाइन जकात देने से पहले जाने ये बात, कहीं पीएफआई के खाते में तो नहीं जा रही जकात

देश में इनमें से प्रमुख रुप से पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई), जमात ए इस्लामी हिंद (जेईआईएच) आदि शामिल हैं। इस तेज गति वाले जीवन में योग्य मुसलमानों को समय बचाने और शारीरिक श्रम से बचने के लिए ऑनलाइन जकात दान करना आसान लगता है। जकात प्रशासकों को जो लोग जकात दान करते हैं उनको ज़कात के अंतिम उपयोग के बारे में पूछताछ करनी चाहिए। उन्हें जवाबदेही के लिए पूछना चाहिए।
यह भी पढ़े : Meerut Yakub Qureshi Case : पूर्वमंत्री याकूब कुरैशी और उसके परिवार के खिलाफ दर्ज मामले में सुनवाई से हाईकोर्ट जज का इंकार


दिल्ली हिंसा के बाद की जांच के दौरान पीएफआई के एकाउंटेंट ने खुलासा किया कि दिल्ली के शाहीन बाग में पीएफआई का मुख्यालय करोड़ों बेहिसाब धन रखता है जिसका उपयोग वे बिना किसी जवाबदेही के करते हैं। पीएफआई के खिलाफ विभिन्न कानून प्रवर्तन एजेंसियों द्वारा हवाला मनी लेनदेन के कई मामलों की जांच की जा रही है। उलेमा शमसुद्दीन ताहिर ने मुस्लिम समुदाय से अपील की है कि उनको यह तय करना है कि उनकी गाढ़ी कमाई का इस्तेमाल पीएफआई जैसे संगठनों द्वारा किया जाना है या गरीब और जरूरतमंद मुसलमानों के उत्थान के लिए। मात्र दान से मुसलमानों को धन के अंतिम उपयोग के प्रति उनकी जिम्मेदारी से मुक्त नहीं किया जा सकता।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

ताजमहल के बंद 22 कमरों में क्या है, ASI ने जारी कर दी फोटोPM Modi Nepal Visit : नेपाल के बिना हमारे राम भी अधूरे हैं, नेपाल दौरे पर बोले पीएम मोदीमहबूबा मुफ्ती ने कहा इनको मस्जिद में ही मिलता है भगवानMonsoon Update 2022: अंडमान-निकोबार पहुंचा मानसून, जानिए आपके राज्य में कब होगी बारिशGyanvapi Survey: ज्ञानवापी परिसर में जहां मिला शिवलिंग उसे अदालत ने तत्काल सील करने का दिया आदेश, जानें क्या कहा DM नेजातिगत जनगणना: भाजपा के विरोध के बावजूद सीएम नीतीश कुमार बिहार में जल्द बुलाएंगे सर्वदलीय बैठकUdaipur Chintan Shivir: राजस्थान में दंगे करवाने में भाजपा के बड़े नेताओं का हाथ, 'चिंतन' के बाद बोले सीएम गहलोत7 लोगों को जिंदा जलाकर दोस्त से मैसेज पर कही थी ये बात, अब दोस्त ने कहा- इसे फांसी देना भी कम है
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.