BJP ने निकाय चुनाव में गौ-पालन केंद्र खोलने का किया वादा, परिणाम गोबर रहने के आए संकेत

BJP ने निकाय चुनाव में गौ-पालन केंद्र खोलने का किया वादा, परिणाम गोबर रहने के आए संकेत

Iftekhar Ahmed | Updated: 13 Nov 2017, 05:47:28 PM (IST) Meerut, Uttar Pradesh, India

निकाय चुनाव में भाजपा के घोषणा पत्र में शामिल गौ-पालन केंद्र को युवाओं ने सिरे से नकारा

मेरठ. निकाय चुनाव के प्रथम चरण का मतदान 22 नवंबर को होना है। इसे देखते हुए भाजपा ने अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। लेकिन, इस घोषणा पत्र को देखकर युवा वर्ग की त्यौरियां चढ़ गर्इ हैं। दरअसल, इसमें युवा वर्ग के रोजगार संबंधी ऐसा कुछ नहीं है, जिससे वे इस घोषणा-पत्र को देखकर खुश हो जाएं। बल्कि, उन्होंने शहरों में गौ-पालन केंद्र खोलने से ज्यादा रोजगार केंद्र की आवश्यकता को अपनी प्राथमिकता बतार्इ है। उनका कहना है कि युवा वर्ग पर देश टिका हुआ है। गौ-पालन केंद्र खोलने से क्या फायदा होगा। अगर रोजगार केंद्र खोलेंगे तो यूथ को रोजगार संबंधी कर्इ जानकारी मिल सकती हैं और उन्हें पता चलेगा कि उन्हें किस ओर जाना है। भाजपा का घोषणा-पत्र जारी होने के बाद जब पत्रिका संवाददाता ने मेरठ में युवाओं से बातचीत की तो भाजपा को सपोर्ट करने वाले युवा भी इस घोषणा-पत्र से नाराज दिखे। उन्होंने गौ-पालन केंद्र खोले जाने को घोषणा-पत्र में शामिल करने फैसले को सिरे से नकार दिया। उन्होंने इससे ज्यादा युवाओं के लिए रोजगार केंद्र खोले जाने को अपनी प्राथमिकता दी।

Student

हमें रोजगार जानकारी की जरूरत

मेरठ कालेज के बीए फाइनल के छात्र आकाश कुमार का कहना है कि इस समय भर्ती कहां निकल रही हैं। फार्म निकल रहे हैं या नहीं। हमें पता ही नहीं चल पाता। भाजपा अपने घोषणा-पत्र में गौ-पालन केंद्र की बजाय रोजगार केंद्र को प्राथमिकता देती, तो बहुत अच्छा होता। क्योंकि, इससे रोजगार संबंधी जानकारी वहां से मिलती रहती। मेरठ कॉलेज के छात्र नितिन कुमार ने कहा कि गौ पाल केंद्र से कोर्इ फायदा नहीं होगा, बल्कि रोजगार केंद्र खोलने से यूथ को काफी फायदा मिल सकता था। देश यूथ पर टिका हुआ है, जब यूथ ही बेकार रहेगा, तो ऐसे में गौ-पालन केंद्र खोलने से कोर्इ लाभ नहीं होने वाला। रोजगार केंद्र खोलेंगे तो वहां जाकर यूथ को पता चलेगा कि उन्हें किस ओर जाना है। गौ पाल केंद्र खोलने से न तो प्रदेश की इकोनाॅमी ठीक होने वाली है आैर न ही कोर्इ लाभ मिलने वाला। रोजगार केंद्र खोलने से यूथ को राेजगार के नए अवसर मिलने की संभावना बढ़ जाती।

student

 

शिक्षा ले रहे रोजगार के लिए

एनएएस कॉलेज के बीएससी फाइल के छात्र अभिषेक ने कहा कि भाजपा के घोषणा पत्र में गौ-पालन केंद्र खोलने से ज्यादा जरूरी होता कि रोजगार केंद्र को जगह मिलती। युवा वर्ग के पास रोजगार रहेगा, तो सबकुछ अच्छा रहेगा आैर परिवार भी अच्छे ढंग से चला पाएगा। इससे प्रदेश-देश को भी फायदा होगा। इसलिए रोजगार केंद्र की घोषणा करते, तो अच्छा रहता।

बस हमें चाहिए रोजगार
मेरठ कॉलेज के एलएलएम द्वितीय वर्ष के छात्र लोकेश राणा का कहा है कि वह भाजपा को पूरी तरह सपोर्ट करते हैं कि लेकिन पहले हमें रोजगार की जरूरत है, बाकी कुछ आैर बाद में। रोजगार केंद्र खोलने की बात होती, तो अच्छा रहता। गौ-पालन केंद्र खोलने से ज्यादा जरूरी हमें रोजगार केंद्र की जरूरत है, क्योंकि इससे रोजगार संबंधी जानकारी मिलती।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned