गठबंधन के बाद इस पूर्व मंत्री को यहां से चुनावी मैदान में उतार रही मायावती, मुस्लिम-दलित फार्मूले पर नजर

गठबंधन के बाद इस पूर्व मंत्री को यहां से चुनावी मैदान में उतार रही मायावती, मुस्लिम-दलित फार्मूले पर नजर

Sanjay Kumar Sharma | Publish: Jan, 14 2019 07:08:00 PM (IST) Meerut, Meerut, Uttar Pradesh, India

सपा-बसपा गठबंधन की घोषणा के बाद दोनों पार्टियों में सरगर्मियां बढ़ी

मेरठ। सपा-बसपा के गठबंधन के बाद उत्तर प्रदेश की राजनीति में सरगर्मियां तेज हो गर्इ है। 38-38 सीटें आपस में बांट लेने के बाद बची प्रदेश की चार सीटें छोड़ी हैं। इनमें दो अमेठी आैर रायबरेली के अलावा अन्य सहयोगी संगठन के लिए दो सीटें रखी गर्इ हैं। प्रदेश के इस गठबंधन के बाद उम्मीदवार के नाम पक्के करने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। बसपा की निगाह वेस्ट यूपी पर लगी है। इसलिए मायावती चाहती हैं कि वेस्ट यूपी में ज्यादा से ज्यादा सीटों पर वह अपने उम्मीदवार उतारें। सपा-बसपा गठबंधन के लिए मेरठ-हापुड़ लोक सभा बहुत महत्वपूर्ण है। सूत्र बताते हैं कि यहां से उम्मीदवार उतारने में काफी माथापच्ची हुर्इ है आैर बसपा के पूर्व मंत्री हाजी याकूब कुरैशी पर मुहर लगार्इ गर्इ है। हालांकि अभी कोर्इ अधिकारिक घोषणा तो नहीं हुर्इ है, लेकिन पार्टी सूत्र बताते हैं कि लखनउ में उनके नाम की मुहर पहले ही लग चुकी थी, अब तो बस घोषणा होनी बाकी है।

यह भी पढ़ेंः Reality Check: रैपिड ट्रेन देेने का दावा करने वाले भाजपा सांसद गोद लिए अपने गांव में आम सुविधाएं भी नहीं दे पाए, देखें वीडियो

मुस्लिम-दलित वोट बैंक पर है निगाह

पार्टी सूत्र बताते हैं कि बसपा के पूर्व मंत्री हाजी याकूब कुरैशी के नाम पर सहमति बन गर्इ है। इसका आधार पिछले नगर निगम का मेयर पद पर चुनाव बना है। दरअसल, मेयर पद के चुनाव में बसपा के पूर्व विधायक योगेश वर्मा की पत्नी सुनीता वर्मा ने भाजपा की कांता कर्दम को हराकर जीत हासिल की थी। इसमें बसपा के लिए मुस्लिम आैर दलित वोटों की एकजुटता के कारण जीत में बड़ा अंतर आया था। यदि बसपा याकूब कुरैशी को मेरठ-हापुड़ लोक सभा सीट से उम्मीदवार बनाती है तो पार्टी हार्इकमान की मंशा नगर निगम के मेयर पद वाले फार्मूले को भुनाने की है। क्योंकि भाजपा हार्इकमान की पूरी मेहनत पर इस बसपा के इस फार्मूले ने पानी फेर दिया था।

यह भी पढ़ेंः फिल्म 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' के डायरेक्टर पर कांग्रेसियों ने लगाए ये आरोप, देखें वीडियो

नहीं लग रहा चर्चाआें पर विराम

पार्टी सूत्र बताते हैं कि सपा-बसपा गठबंधन की घोषणा से पहले ही याकूब कुरैशी के नाम की चर्चा शुरू हो गर्इ थी आैर यह फाइनल भी हो गया है, लेकिन अभी अधिकारिक घोषणा नहीं की जा रही है। इस पर हालांकि कोर्इ कुछ बोलने को तैयार नहीं है, लेकिन जिस तरह याकूब कुरैशी के उम्मीदवार को लेकर चर्चा है, उनका नाम मेरठ-हापुड़ लोक सभा सीट से तय माना जा रहा है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned