scriptBuffaloes were sacrificed not goats in Meerut on Bakrid | Eid ul Azha : मेरठ में बकरे बचे भैंसें हुईं खूब कुर्बान, जाने क्यों | Patrika News

Eid ul Azha : मेरठ में बकरे बचे भैंसें हुईं खूब कुर्बान, जाने क्यों

Eid ul Azha बकरीद यानी ईद उल अजहा के पर्व का आज तीसरा दिन है। आज भी मेरठ में ईद उल अजहा पर कई जगह पशुओं की कुर्बानी हुईं। लेकिन इस बार बकरीद पर बकरों की कुर्बानी कम हुईं जबकि बड़े पशुओं की कुर्बानी अधिक दी गई। बड़े पशुओं में ईद पर भैंस और भैंसा की कुर्बानी अधिक हुईं। इस ईद के मौके पर लोग बकरे की कुर्बानी देने के लिए कई महीनों पहले से बकरा खरीदकर पालते हैं। लेकिन इस बार बकरीद भैंस और भैंसे की कुर्बानी का अधिक चलन रहा।

मेरठ

Updated: July 12, 2022 07:32:19 pm

Eid ul Azha इस बार मेरठ में बकरीद पर भैंस और बड़े पशुओं की कुर्बानी अधिक हुई। जबकि इस बार बकरे कुर्बानी से बच गए। ऐसा ईद मनाने वाले मुस्लिम समाज के लोगों का कहना है। मुस्लिम समाज के अधिकांश लोगों ने इस बार बड़े पशुओं की कुर्बानी दी। इसके पीछे जो सबसे बड़ा कारण रहा वो था बकरे पर महंगाई की मार और बड़े पशुओं का सस्ता होना। बकरा व्यापारियों की मानें तो इस बार पशु बाजार में एक बकरा कम से कम 15 हजार रूपये का बिक रहा था। ईद के मौके पर लगे बकरा बाजार में ईद उल अजहा से पहले सबसे कम दाम 10800 रुपये में एक बकरा बिका। जबकि एक भैंस की कीमत 25 हजार से 35 हजार रुपये के बीच रही। ये वो भैंस थीं जो दूध देने में असमर्थ थीं। इस कारण इन भैंसों को पशु बाजार में बेंच दिया गया। बकरा महंगा होने के कारण इस बार मुस्लिम समुदाय ने कुर्बाने के लिए विकल्प के रूप में भैंस को चुना। मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मिलकर एक भैंस खरीद ली और सभी ने मिलकर उसकी कुर्बानी दी। इससे ईद के मौके पर कुर्बानी भी हो गई और रूपये भी बच गए। नाम नहीं छापने की शर्त पर एक पशु व्यापारी ने बताया कि भैंसा जिसको को पश्चिमी उप्र की भाषा में कटड़ा कहा जाता है उसकी कीमत भी इस बार 20 हजार रुपये तक रही। बाजार में कटड़े की कीमत कम और भैंस की अधिक होती हैं। लेकिन जो भैंस दूध देने में असमर्थ होतीं हैं उनकी कीमत काफी कम हो जाती है।
Eid ul Azha : मेरठ में बकरे बचे भैंसें हुईं खूब कुर्बानी, जाने क्यों
Eid ul Azha : मेरठ में बकरे बचे भैंसें हुईं खूब कुर्बानी, जाने क्यों

सात लोग मिलकर कर सकते हैं बड़े पशु की कुर्बानी
मेरठ निवासी मौलाना हाजी शफीक के अनुसार बकरे की कुर्बानी एक व्यक्ति या एक परिवार के लोग कर सकते हैं। जबकि बड़े पशु में जैसे भैंस,भैंसा या कटड़े की कुर्बानी सात लोग मिलकर कर सकते हैं। यानी भैंस की कुर्बानी सात लोगों को लगेगी। जबकि बकरे की कुर्बानी एक व्यक्ति को ही लगती है। इसलिए कुर्बानी के लिए सात लोग मिलकर एक भैंस खरीद लाते हैं और कुर्बानी देते हैं। इससे भैंस प्रति व्यक्ति सस्ती भी पड़ती हैं और कुर्बानी भी हो जाती है।
यह भी पढ़े : Eid Namaz in Meerut : मेरठ ईदगाह में अकीदतमंदों ने अदा की ईद की नमाज, मांगी अमन चैन की दुआ


कुर्बानी पर पड़ा लॉकडाउन का असर
कुछ मुस्लिम व्यापारियों का कहना है कि इस बार बकरीद के मौके पर दी जाने वाली कुर्बानी पर लॉकडाउन का असर पड़ा। इस बार बकरें काफी महंगे बिके। जबकि भैंस सस्ती थी। इस कारण लोगों ने मिलकर एक भैंस ली और उसकी कुर्बानी करवाई। व्यापारिेयों की माने तो दो साल से व्यापार पर कोरोना संक्रमण की मार पड़ी है। जिसके चलते ईंद की खुशियां भी इस बार फीकी ही रहीं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कॉमनवेल्थ गेम्स के पदकवीरों से आज करेंगे मुलाकातसलमान रुश्दी ने ऐसा क्या लिखा, मुस्लिम कट्टरपंथी बन गए जान के दुश्मन, जानिए पूरा मामलाTrump Search Warrant: एफबीआई ने ट्रंप के मार-ए-लागो आवास से जब्त की Top Secret फाइलें, हो सकती है 5 साल की सजाकांग्रेस MLA का आपत्तिजनक बयान, कहा- "सरकारी नौकरी के लिए महिलाओं को किसी के साथ सोना पड़ता है"मनीष सिसोदिया का BJP पर निशाना, कहा - 'रेवड़ी बोलकर मजाक उड़ाने वाले चला रहे दोस्तवादी मॉडल'भोजपुरी का मशहूर सिंगर कर रहा था ड्रग्स की तस्करी, दिल्ली पुलिस ने 21 किलो गांजे के साथ किया गिरफ्तारसोनिया गांधी से मुलाकात के बाद बोले तेजस्वी यादव- 'नीतीश जी का हमसे हाथ मिलाना BJP के मुंह पर तमाचे की तरह''स्मोक वार्निंग' के कारण मालदीव जा रही 'गो फर्स्ट' की फ्लाइट की हुई कोयंबटूर में इमरजेंसी लैंडिंग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.