राकेश टिकैत और योगेंद्र यादव को फर्जी किसान नेता बताते हुए फूंका पुतला

Highlights

- दिल्ली में लाल किला हिंसा के बाद किसान नेताओं का विरोध

- हिंदू राष्ट्र सेवा संघ के कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

- प्रदर्शन के दौरान लगाए खालिस्तान मुर्दाबाद के नारे

By: lokesh verma

Published: 28 Jan 2021, 11:41 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ.
दिल्ली में गणतंत्र दिवस के दिन किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किले पर हुई हिंसा के बाद मेरठ में हिंदू संगठनों में उबाल है। इसको लेकर हिंदू राष्ट्र सेवा संघ के कार्यकर्ताओं ने खालिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए बेगमपुल चौराहे पर किसान नेता राकेश टिकैत और योगेन्द्र यादव का पुतला फूंका। हिंदू संघ का कहना है कि राष्ट्रीय ध्वज का अपमान सहन नहीं किया जाएगा। इस दौरान राकेश टिकैत और योगेन्द्र यादव मुर्दाबाद के नारे भी जमकर लगे।

यह भी पढ़ें- UP गेट पर देर रात धरना स्थल की बिजली काटी, किसानों को बड़ी कार्रवाई की आशंका

हिन्दू राष्ट्र सेवा संघ के वेस्ट यूपी अध्यक्ष वीके चिंडालिया ने कहा कि गणतंत्र दिवस के दिन राष्ट्रीय ध्वज का अपमान किया गया है। पुलिसवालों से बदसलूकी की गई है। इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। ख़ासतौर से ये लोग राकेश टिकैत से ख़ासे नाराज़ दिखे। वहीं, हिंदू राष्ट्र सेवा संघ के प्रदेश अध्यक्ष किशोर पहाड़ी ने कहा कि जब दुनिया की नज़र लालकिले पर थी, तब राष्ट्रीय ध्वज का अपमान कर देश को शर्मिंदा किया गया है।

कार्यकर्ताओं ने कहा कि जब समूचा राष्ट्र गणतंत्र दिवस को लेकर जश्न मना रहा था। उसी दिन राष्ट्रध्वज का अपमान कर देश का सिर नीचे किया गया है। हिंदू राष्ट्र सेवा संघ ने ऐसे देशद्रोहियों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की। संघ ने राकेश टिकैत और योगेन्द्र यादव को फर्ज़ी किसान नेता बताया।

यह भी पढ़ें- Tractor Rally में हिंसा के बाद किसान संगठन 'भानू' ने खत्म किया धरना, फिर से खोला गया दिल्ली बॉर्डर

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned