CCSU Meerut: गेस्ट फैकल्टी के लिए खुशखबरी, अब हर महीने इतनी मिलेगी सेलेरी

CCSU Meerut: गेस्ट फैकल्टी के लिए खुशखबरी, अब हर महीने इतनी मिलेगी सेलेरी

Sanjay Kumar Sharma | Updated: 23 Sep 2019, 03:03:27 PM (IST) Meerut, Meerut, Uttar Pradesh, India

Highlights

  • सीसीएसयू मेरठ की कार्य परिषद की बैठक में निर्णय
  • बैठक में गेस्ट फैकल्टी का न्यूनतम वेतन निर्धारित किया गया
  • न्यनूतम वेतन समेत कई अहम मुद्दों पर लिए गए निर्णय

 

मेरठ। चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ (CCSU Meerut) की गेस्ट फैकल्टी (Guest Faculty) को लेकर अहम फैसला लिया गया है। इसकी कई दिनों से मांग भी चल रही थी। दरअसल, विश्वविद्यालय व संबंध कालेजों में गेस्ट फैकल्टी का न्यनूतम वेतन निर्धारित कर दिया गया है। स्ववित्त पोषित संस्थानों में गेस्ट प्रवक्ता की सारी अर्हता पूरी करने वालों को 28 हजार रुपये प्रतिमाह वेतन दिया जाएगा। जिन प्रवक्ताओं की अर्हता कम होगी, उनका न्यनूतम वेतन 18 हजार रुपये होगा।

यह भी पढ़ेंः Reality Check: बैंकों की हड़ताल के बीच उठी इस चर्चा पर लगा ब्रेक

कार्य परिषद की बैठक में निर्णय

चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय की कार्य परिषद की बैठक में कई अहम मुद्दों पर चर्चा के बाद महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं। बैठक में सेल्फ फाइनेंस कालेजों में कार्यरत अतिथि प्रवक्ता यानी गेस्ट लेक्चरर की अर्हता रखने वाले को 28 हजार रुपये महीना निर्धारित वेतन दिया जाएगा। अगर वह कोर्स के अनुसार अर्हता नहीं रखते हैं तो उन्हें 18 हजार रुपये देने का निर्णय लिया गया है। अभी तक विश्वविद्यालय के इन कालेजों में वेतन निर्धारित नहीं था। फैकल्टी को एक हजार रुपये प्रति लेक्चर और अधिकतम 25 हजार रुपये वेतन मिलता था। इससे गेस्ट लेक्चररों को राहत मिली है। वैसे आयोग पहले ही कह चुका है कि गेस्ट फैकल्टी की योग्यता यूजीसी के नियमों के अनुसार विश्वविद्यालयों व कालेजों में नियुक्त किए गए असिस्टेंट प्रोफेसर के बराबर होनी चाहिए।

यह भी पढ़ेंः इन दिनों में इतने बरसेंगे बदरा कि किसानों के चेहरे भी खिल उठेंगे

ये भी हुए अहम फैसले

रविवार को हुई कार्य परिषद की बैठक में अन्य अहम निर्णय लिए गए। इनमें दीवान कालेज आफ लॉ और अंगूरी देवी कालेज आफ लॉ एजूकेशन में एलएलएम की सीटें बढ़ाकर 60-60 कर दी गई हैं। इस साल 19 शोध छात्रों को पीएचडी की डिग्री, विश्वविद्यालय परिसर में हिन्दी में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाले को केशव दत्त लोहनी स्मृति स्वर्ण पदक प्रदान किया जाएगा। बैठक में कुलपति प्रो. एनके तनेजा, प्रति कुलपति प्रो. वाई विमला, डा. दर्शान लाल अरोड़ा, डा. अरुण कुमार सिंह, प्रो. दिनेश कुमार, परीक्षा नियंत्रक डा. अश्वनी कुमार, वित्त अधिकारी सुशील कुमार मौजूद आदि रहे।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned