scriptChallan reach home as traffic rules broken on expressway,toll be paid | Delhi-Meerut Expressway: कल से संभलकर चले इस हाइवे पर वरना घर पहुंचने से पहले पहुंचेगा चालान | Patrika News

Delhi-Meerut Expressway: कल से संभलकर चले इस हाइवे पर वरना घर पहुंचने से पहले पहुंचेगा चालान

Delhi-Meerut Expressway : दिल्ली—मेरठ एक्सप्रेस वे पर जाने की सोच रहे हैं तो वाहन के साथ ही खुद को भी दुरूस्त कर लें। इस एक्सप्रेस वे (Expressway ) पर जरा सी गलती से तीन सैकेंड में चालान आपके घर पहुंच जाएगा। यानी आपके घर पहुंचने से पहले चालान आपका घर पर इंतजार कर रहा होगा। वहीं 25 दिसंबर से इस एक्सप्रेस वे पर टोल (Tool)वसूली भी शुरू हो जाएगी।

मेरठ

Published: December 24, 2021 09:55:37 am

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. Delhi-Meerut Expressway : दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर 25 दिसंबर यानी क्रिसमस डे से टोल वसूली शुरू हो जाएगी। इस टोल वसूली के शुरूआत होते ही यह एक्सप्रेस वे देश का पहला ऐसा एक्सप्रेस वे बन जाएगा जिस पर आटोमैटिक टोल वसूली (automatic toll collection)होगी। एक्सप्रेस वे पर बिना फास्टैग(fastag) वाले वाहनों से पूरी दूरी के लिए निर्धारित टोल से दोगुना जुर्माना देना होगा।
Delhi-Meerut Expressway: कल से संभलकर चले इस हाइवे पर वरना घर पहुंचने से पहले पहुंचेगा चालान
Delhi-Meerut Expressway: कल से संभलकर चले इस हाइवे पर वरना घर पहुंचने से पहले पहुंचेगा चालान
एक्सप्रेस-वे पर प्रवेश व निकास वाले किसी भी स्थान पर कैश लेन नहीं है। एक्सप्रेस-वे के सभी लेन पूरी तरह से फास्टैग वाले वाहनों के लिए हैं। काशी टोल प्लाजा(Kashi Toll Plaza) कुल 19 बूथों तैया किए गए हैं। इस पर मेरठ से दिल्ली(Meerut to Delhi) जाने वाली दिशा में प्रवेश के लिए सात लेन हैं। जबकि दिल्ली से मेरठ (Delhi to Meerut) की तरफ आने पर निकासी के लिए कुल 12 लेन तैयार की गई हैं।
दो पहिया और तीन पहिया वाहन प्रतिबंधित
एक्सप्रेस-वे पर दो पहिया और तीन पहिया वाहनों को पूरी तरह से प्रतिबंधित किया हुआ है। यदि दो पहिया या तीन पहिया वाहन चालक इस एक्सप्रेस वे पर आते हैं तो उन्हें आनलाइन चालान भुगतना होगा। यानी उनके घर चालान भेजा जाएगा। इसके लिए एक्सप्रेस-वे के कंट्रोल रूम को एनआइसी से जोड़ दिया गया है। एनआइसी से डाटा प्राप्त करके ट्रैफिक पुलिस चालान भेजेगी। इसी तरह से निर्धारित गति से अधिक तेज चलने पर भी आनलाइन चालान(online Challan) भेजा जाएगा।
यह भी पढ़े : दिल्ली से देहरादून मात्र दो घंटे में, एक्सप्रेस वे का मंत्री नितिन गडकरी ने किया लोकार्पण

आटोमेटिक नंबर प्लेट रीडर से दूरी पता करेगा साफ्टवेयर
एक्सप्रेस-वे पर किसी वाहन चालक से यह नहीं पूछा जाएगा कि वह कहां से आ रहे ह हैं और कहां जाना है। आटोमेटिक नंबर प्लेट रीडर अपने आप ही वाहनों के प्रवेश व निकास के बारे में पता कर टोल काट लेगा।
यह होगी टोल वसूली की दर
वाहन भोजपुर रसूलपुर डासना डूंडाहेड़ा इंदिरापुरम सरायकाले खां
हल्के वाहन (निजी) 20 45 60 75 95 140
हल्के वाहन (वाणिज्यिक) 35 75 100 120 150 225
भारी वाहन (बस और ट्रक) 75 155 210 255 320 470

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहकर्नाटक में कोरोना की रफ्तार तेज, 47  हजार से अधिक नए मामलेरामगढ़ पचवारा में बरसे टिकैत, कहा किसानों की जमीन को छीनने नहीं दिया जाएगाप्रदेश के डेढ़ दर्जन जिलों में रेत का अवैध परिवहन जारी, सरकार को करोड़ों का नुकसान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.