छोटे साहबजादों की शहादत के रूप में मनाया बाल दिवस

  • गुरु गोविंद सिंह के पुत्रों को इस दिन दी गई थी शहादत
  • जवाहर लाल नेहरू की जयंती के रूप में नहीं मनाने का आहवान
  • राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को लिखा महासभा ने पत्र

By: shivmani tyagi

Updated: 15 Nov 2020, 11:29 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. हिंदू महासभा ने 14 नवंबर को शहादत दिवस के रूप में मनाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया है कि 14 नवंबर काे बाल दिवस के रूप में मनाया जाए। तर्क दिया कि इसी दिन दसवें सिख गुरु गोविंद सिंह के नाबालिग पुत्रों (छोटे साहबजादों ) की शहादत हुई थी। इसलिए इस दिन काे जवाहरलाल नेहरू की जयंती के स्थान पर ‘बाल दिवस’ घोषित किया जाए।

यह भी पढ़ें: टक्कर लगते ही यूपी 112 की बाइक में लगी आग, होमगार्ड समेत सिपाही गंभीर

हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अशोक शर्मा ने कहा कि देश के विभाजन के बाद से जवाहर लाल नेहरू ने देश की अखंडता और एकता को नुकसान पहुंचाया। हिंदू महासभा हमेशा से ही बाल दिवस यानी 14 नवंबर का विरोध करती रही है। यह भी कहा कि हम भारत सरकार से यह आहवान करते हैं कि भारत के भीतर अगर बाल दिवस मनाना है तो छोटे साहबजादों के नाम पर मनाया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें: प्रदूषण से निपटने के लिए मुजफ्फरनगर में तैयार की गई एंटी स्मॉग गन

हिंदू महासभा के प्रदेश प्रवक्ता अभिषेक अग्रवाल ने राष्ट्रपति और पीएम मोदी को लिखे पत्र में कहा कि ‘छोटे साहबजादे’ जोरावर सिंह और फतेह सिंह ने 1704 में धर्म की रक्षा करते हुए पंजाब के सरहिंद में शहादत दी थी। उन्होंने पत्र में लिखा है कि शहादत वाले दिन ‘बाल दिवस’ मनाकर इन बहादुर बच्चों के बलिदान को याद करना देशभर के बच्चों के लिए प्रेरणास्रोत रहेगा।
उन्होंने यह भी कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की जयंती 14 नवंबर को 1956 से देश में ‘बाल दिवस’ के रूप में मनायी जाती है क्योंकि नेहरू बच्चों में अत्यंत लोकप्रिय थे। उन्होंने यह भी कहा कि नेहरू ने देश के लिए कोई ऐसा काम नहीं किया जिसके लिए उन्हें याद किया जाता रहे। उन्होंने पत्र में लिखा, ‘‘हिंदू महासभा आपसे अनुरोध करती है कि इन बहादुर छोटे साहबजादों के साहस और बलिदान को देखते हुए उनकी शहादत वाले दिन को बाल दिवस घोषित किया जाए।’’

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned