Christmas Day 2020: क्रिसमस डे के इन कार्यक्रमों पर रहेगा प्रतिबंध, जारी हुई गाइडलाइन

Highlights

- Christmas Day 2020 इस बार चर्चों में नहीं होगी परंपरागत बोन लाइट सर्विस
- क्रिसमस पर दिखेगी चर्चों में सावधानी की झलक
- कोरोना संक्रमण के चलते चर्चों के लिए जारी हुई गाइडलाइन
- मास्क लगाकर ही कर सकेंगे चर्च में प्रवेश

By: lokesh verma

Published: 24 Dec 2020, 12:34 PM IST

मेरठ. प्रभु यीशु के जन्मोत्सव क्रिसमस डे (Christmas Day 2020) की तैयारियां महानगर मे जोरों पर हैं। इस बार कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के चलते चर्चों में परंपरा, सतर्कता और सावधानी की झलक तो दिखेगी, लेकिन बोन लाइट (लकड़ी जलाना) सर्विस नहीं होगी। हर वर्ष चर्च में क्रिसमस पर बोन लाइट सर्विस का विशेष प्रबंध होता था। लकड़ी व मोमबत्ती जलाकर लोग यीशु के जन्मदिन की खुशियां मनाते थे। आग के चारों ओर मसीही समुदाय के लोग नृत्य करके यीशु के गीत गाते थे। इससे भीड़ काफी एकत्र हो जाती थी। भीड़ एकत्र न होने पाए इसके लिए इस बार बोन लाइट सर्विस नहीं करने का निर्देश दिए गए हैं। अगर किसी चर्च में बोन लाइट सर्विस होती है तो उसके पास चार-पांच से अधिक लोग एकत्र नही करने की सख्त हिदायत दी गई है।

यह भी पढ़ें- Special: इस विश्वप्रसिद्ध चर्च की खासियत जान हो जाएंगे हैरान, 25 पैसे की मजदूरी देकर कराया था निर्माण

क्रिसमस पर मिड नाइट (मध्य रात्रि) सर्विस पहले की तरह होगी। 24 दिसंबर यानी आज रात 11.30 बजे से चर्चों में प्रार्थना शुरू होगी। पादरी बाइबिल का पाठ करके प्रभु यीशु के जन्म का संदेश देंगे। संदेश मिलने पर मसीही समुदाय के लोग खुशियां मनाएंगे। लेकिन, कोरोना संक्रमण के मद्देनजर सतर्कता बरतते हुए हर मसीही को मास्क लगाकर चर्च आने का निर्देश दिया गया है। चर्च के गेट पर सेनेटाइज करके ही प्रवेश दिया जाएगा। जबकि 25 दिसंबर की सुबह 10 बजे चर्च में बिशप प्रार्थना करके यीशु का संदेश देंगे।

संगीत के कार्यक्रम पर रोक

कोरोना संक्रमण के मद्देनजर क्रिसमस पर संगीत का कोई बड़ा आयोजन नहीं होगा। परंपरा का निर्वाहन करने के लिए सारे कार्यक्रम छोटे स्तर पर किए जाएंगे। क्रिसमस पर हर साल चर्चों में सैकड़ों की भीड़ एकत्र होती है। सेंट जॉस चर्च व सेंट जोसफ चर्च में भीड़ अधिक होती है। इस बार भीड़ एकत्र न हो उसके लिए हर घर से एक अधिकतम दो श्रद्धालु को चर्च आने का निर्देश दिया गया है।

सेंट जोजफ चर्च के फादर जोजफ का कहना है कि हर चर्च में पूर्व की भांति अबकी भी मिड नाइट सर्विस 24 दिसंबर की रात 11.30 बजे से शुरू होगी। कोरोना संक्रमण को देखते हुए बोन लाइन सर्विस नहीं करने का निर्णय लिया गया है। श्रद्धालुओं को मास्क लगाकर आने व एक घर से एक सदस्य को चर्च आने का निर्देश हैं। इसका पालन हर चर्च में किया जाएगा।

यह भी पढ़ें- भले ही कम हो रही हो कोरोना के मरीजों की संख्या, लेकिन अभी टला नहीं खतरा, न करें ये गलतियां

coronavirus
Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned