BREAKING: मेरठ में गरजे सीएम केजरीवाल, बोले- 70 साल से सभी पार्टियां किसानों को दे रहीं धोखा

Highlights

- सीएम अरविंद केजरीवाल को करना पड़ा भीड़ आने का इंतजार

- तय समय से चार घंटे की देरी से शुरू हुई आप की किसान महापंचायत

- केजरीवाल बोले- किसानों के लिए डेथ वारंट है कृषि कानून

By: lokesh verma

Published: 28 Feb 2021, 03:36 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. आम आदमी पार्टी की किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) में मेरठ पहुंचे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने भाजपा सरकार (BJP Government) पर जमकर हमला बोला। उन्होंने किसानों को संबोधित करते हुए कहा ये तीनों कानून किसानों के लिए डेट वारंट हैं। उन्होंने कहा ऐसे तो हर किसान मजदूर बन जाएगा। उन्होंने कहा पिछले 25 साल में साढ़े तीन लाख किसान आत्महत्या कर चुके हैं। अब किसान दिल्ली के बॉर्डर पर शहादत क्यों दे रहे है? क्योंकि उनकी जिंदगी मौत पर आ गई है। सब की खेती पूंजीपति के हाथ में चली जाएगी और किसान अपने खेत में मजदूर बन जाएगा।

यह भी पढ़ें- किसान महापंचायत: आप नेता बोलीं- कार्पोरेट लॉबिंग की वजह से नहीं मिल रहा किसानों को हक

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सभी पार्टी की सरकारों ने 70 सालों में किसानों को धोखा दिया है। किसान 70 साल से अपनी फसल का सही दाम मांग रहे हैं। सभी के चुनावी घोषणापत्र में लिखा होगा कि हम जीतेंगे तो सही दाम दे देंगे, लेकिन अगर सही दाम दे देते तो किसान आत्महत्या नहीं करता। उन्होंने कहा आज अपने देश का किसान बहुत ज्यादा पीड़ा में है। किसान भाई परिवार समेत 95 दिनों से कड़ाके की ठंड और अब गर्मी में दिल्ली के बॉर्डर पर धरने पर बैठा है। 250 से ज्यादा किसान भाइयों की शहादत हो चुकी है, लेकिन सरकार के सिर पर जूं नहीं रेंग रही है।

बता दें कि यह किसान महापंचायत रोहटा बाईपास पर संस्कृति रिजॉर्ट में हुई। कृषि कानूनों की वापसी की मांग को लेकर केजरीवाल ने बीजेपी सरकार जमकर घेरा। किसान महापंचायत के लिए आप कार्यकर्ता पिछले कुछ दिनों से लगातार गांव-गांव जाकर किसानों से जनसंपर्क कर रहे थे, ताकि भीड़ जुटा सकें।

किसान महापंचायत में खाली पड़ी रहीं कुर्सियां, केजरीवाल को करना पड़ा इंतजार

संस्कृति रिजॉर्ट में आयोजित किसान महापंचायत को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत तमाम आप नेताओं ने संबोधित किया। जानकारी के मुताबिक किसान महापंचायत सुबह 11 बजे से होनी थी, लेकिन मैदान में खाली पड़ी कुर्सियों को देख महापंचायत का समय दोपहर 3 बजे कर दिया गया। अयोजको को भीड़ के लिए 3 बजे तक का इंतजार करना पड़ा, जिसके चलते मुख्यमंत्री केजरीवाल को भी कई घंटे इंतजार करना पड़ा। जब तीन बजे के बाद महापंचायत में थोड़ी भीड़ बढ़ी तो सीएम अरविंद केजरीवाल का संबोधन कराया गया।

यह भी पढ़ें- भाजपा सांसद साक्षी महाराज का जवाब सुन सब हो गए हैरान

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned