मतदान के 40 घंटे पहले सीएम योगी को याद आए बजरंगबली, जनसभा में कह दी ये बड़ी बात, देखें वीडियो

मेरठ के किठौर क्षेत्र के गांव सिसौली में हुर्इ सीएम की जनसभा

प्रदेश के मुख्यमंत्री ने नरेंद्र मोदी को जिताने की अपील की

वेस्ट यूपी से हरा वायरस पूरी तरह खत्म करने को कहा

 

By: sanjay sharma

Updated: 10 Apr 2019, 09:35 PM IST

मेरठ। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेरठ के किठौर के गांव सिसौली में आयोजित जनसभा में बजरंगबली का जिक्र करके सभी को हैरत में डाल दिया। सीएम ने वेस्ट यूपी में अपनी सभी सभाआें में एेसी बात नहीं की थी, जैसी वह चुनाव प्रचार बंद होने के चंद घंटे पहले कह गए। सीएम योगी ने कहा कि उनके पास अली है तो हमारे पास बजरंगबली हैं। इसके साथ ही जनसभा में जय श्रीराम आैर भारत माता की जय के नारे गूंजने लगे। पहले चरण के मतदान से ठीक पहले सीएम योगी को बजरंगबली का याद आना वोटों के ध्रुवीकरण का बड़ा कार्ड खेलना माना जा रहा है।

यह भी पढ़ेंः VIDEO: लोकतंत्र के महापर्व में नहीं कर पाते अपने मताधिकार का प्रयोग

सीएम योगी ने मंच से महागठबंधन पर निशाना साधा योगी आदित्यानाथ ने कहा कि कश्मीर में आतंकवादियों को मारा जा रहा है तो इसका दर्द समाजवादी पार्टी को हो रहा है। कांग्रेस को हो रहा है। उन्होंने कहा कि महागठबंधन जिसमें सपा, बसपा और रालोद शामिल है। ये भ्रष्टाचार का गठबंधन है। इन लोगों को मोदी से डर लग रहा है। इनको डर है कि कहीं फिर से भाजपा सरकार आ गई तो इनके भ्रष्टाचार की फाइलें खुल जाएंगी। उन्होंने कहा ये लोग देश के नहीं आतंकवादियों के हमदर्द है। आतंकवादी मंदिरों में हमले करते है। मस्जिदों में हमले करते हैं तो ये लोग उसका समर्थन करते हैं वहीं अगर आतंकवादियों को सेना मारती है तो ये लोग उसका विरोध करते हैं। इन लोगों को समझ लेना चाहिए कि देश के सुरक्षा और इसके हितों से भाजपा की सरकार कभी समझौता नहीं करेगी।

यह भी पढ़ेंः कागज चेकिंग के लिए मांगे और फिर वाहन को लगा दिया चुनाव डयूटी में, देखें वीडियो

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आरोप लगाया है कि बसपा सुप्रीमो सहारनपुर की चुनावी रैली से सिर्फ धर्म विशेष के वोट मांग रही थी। वहीं, केरल में राहुल गांधी के नामांकन जुलूस में चांद सितारे के हरे झंडे दिखाने को मिले। यह वो झंडा है, जिसने देश में विभाजन कराया। इस हरे वायरस से केवल कांग्रेस ही संक्रमित नहीं है। संक्रमण की चपेट में कांग्रेस के साथ सपा, बसपा व लोकदल का गठबंधन भी आया है। उन्हें लगता है कि उनका उद्धार अली करेंगे, लेकिन हमें लगता है कि हमारा उद्धार बजरंग बली करेंगे। मुख्यमंत्री ने मायावती को लेकर कहा कि वो सहारनपुर में उसी पार्टी के साथ मंच साझा कर रही थीं, जहां दलित चिंतक कांशीराम के नाम पर उत्तर प्रदेश सरकार ने मेडिकल कॉलेज बनाया था। जब सपा सरकार आई तो उसका नाम बदल दिया। कांशीराम का नाम बदलकर सपा ने करोड़ों अनुसूचित जाति के लोगों का अपमान करने का काम किया था।

Show More
sanjay sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned