सीएम योगी की पसंद के इस आईपीएस ने आते ही दिखाए एेसे तेवर कि एसी में बैठे थानेदारों को आ गया पसीना

पहली ही क्राइम मिटिंग में कर्इ थानेदारों की क्लास लगार्इ

By: sanjay sharma

Published: 09 Sep 2018, 12:26 PM IST

मेरठ। मेरठ में बढ़ते अपराधों पर काबू करने के उद्देश्य से नवनियुक्त एसएसपी अखिलेश कुमार ने आते ही कड़े तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं। उन्होंने थानेदारों की ऐसी मीटिंग ली कि एसी में भी उनको पसीना आ गया। पहली ही क्राइम मीटिंग में एसएसपी के ऐसे तेवर देख अधीनस्थों की पतलून ढीली हो गई। उनकी सबसे पहली शिकायत थी कि थाने की शिकायतें एसएसपी कार्यालय क्यों आती हैं, वह थाने स्तर पर ही क्यों नहीं समाप्त कर दी जाती। एसएसपी अखिलेश कुमार का हाल ही कानुपर से यहां स्थानान्तरण हुआ है। बकरीद से पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने पिछले एसएसपी राजेश कुमार पांडेय पर बढ़ते अपराधों को लेकर नाराजगी जतार्इ थी।

यह भी पढ़ेंः भार्इ ने प्रेमी संग देख लिया था बहन को, धमकाए जाने के बाद दोनों ने जहर खाकर दी जान, साम्प्रदायिक तनाव

थाने की अधिक शिकायतें होने पर नपेंगे थानेदार

शनिवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखिलेश कुमार ने पुलिस लाइन में पहली क्राइम मीटिंग लेते हुए अधीनस्थों के सामने अपने इरादे साफ कर दिए। उन्होंने थाना स्तर पर पीड़ितों की सुनवाई न करने वाले थानेदाराें के खिलाफ कार्रवार्इ की बात कही। साथ ही चेतावनी दी कि जिस थाने की अधिक शिकायतें उनके कार्यालय तक पहुंचेगीं, उस थानेदार को किसी हाल में बख्शा नहीं जाएगा। पुलिस लाइन में शहर और देहात सर्किल के सभी सीओ और थानेदारों से परिचय करते हुए कप्तान अखिलेश कुमार ने जिले में हो रही लूट और छीन की घटनाओं पर रोष प्रकट किया। उन्होंने थानेदारों को अपने-अपने क्षेत्रों मेें गश्त बढ़ाकर ऐसी घटनाओं को सख्ती से रोके जाने के निर्देश दिए। वारंटियाें और वांछिताे को सींखचों के पीछे पहुंचाने के निर्देश देते हुए कप्तान ने अपने कार्यालय में लगने वाली फरियादियों की भीड़ को लेकर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि कप्तान कार्यालय पर आने वाली शिकायतों से साफ जाहिर है कि कई थानेदार अपने क्षेत्रों में पीड़ितों की समस्याओं का समाधान नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे थानेदारों के लिए कड़ी चेतावनी देते हुए कप्तान ने साफ कहा कि यदि उनके कार्यालय में किसी भी थानेदार की शिकायत आई तो उसे बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने जिले के पुलिस अधिकारियों को अपना रवैया सुधारे जाने के निर्देश दिए। कप्तान के सख्त तेवरों के चलते कई अधिकारी मीटिंग के बाद पसीने पोंछते बाहर निकले।

यह भी पढ़ेंः मिशन 2019 के लिए भाजपा के आर्इटी सेल को अमित शाह ने दिया मंत्र, हर बूथ तक एेसे पहुंचेगी नरेंद्र मोदी की आवाज

ये थाने रहे निशाने पर

एसएसपी ने क्राइम मीटिंग के दौरान उन थानों को विशेष नसीहत दी जिन थानों में अपराधों का ग्राफ काफी बढ़ा हुआ है। इनमें थाना नौचंदी, मेडिकल, भावनपुर, लिसाडीगेट, ब्रहमपुरी, मवाना, सरधना, जानी, सरूरपुर आदि प्रमुख रहे। उन्होंने कहा कि अगली क्राइम मीटिंग में नसीहत नही दी जाएगी सीधे कार्रवाई की जाएगी।

Show More
sanjay sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned