Rain Alert: ठंड ने तोड़ा 11 साल का रिकॉर्ड, मौसम विभाग ने जारी की बारिश की चेतावनी

Highlights

- 11 साल में सबसे अधिक ठंडी रही मंगलवार की रात
- ठंड के मामले में देशभर में मेरठ छठे स्थान पर
- नवंबर में बन रही कोल्ड डे कंडीशन की स्थिति

By: lokesh verma

Published: 25 Nov 2020, 10:45 AM IST

मेरठ. पारा लगातार गिर रहा है और सर्दी अपने पूरे शबाब पर आती दिखाई दे रही है। ये कहा जा सकता है कि सर्दी ने नवंबर के अंतिम सप्ताह में जिले में अब पूरी तरह से अपने पैर जमा लिए हैं। सर्दी अभी से इस बार नए रिकाॅर्ड बना रही है। इस बार मेरठ देश के उन छह शहरों में शुमार हो चुका है, जहां नवंबर में सर्वाधिक सर्दी पड़ रही है। हालांकि बुधवार सुबह से आसमान में बादल छाए हुए हैं और ठंड में भी काफी वृद्धि है। आमतौर पर इस तरह की स्थिति दिसंबर के अंतिम दिनों में ठंड होती है, लेकिन इस वर्ष नवंबर में ही ’कोल्ड-डे कंडीशन’ की स्थिति बन गई है। मंगलवार की रात मेरठ देशभर में छठा सबसे ठंडा शहर रहा।

यह भी पढ़ें- यूपी में सबसे ठंडा रहा मुजफ्फरनगर और फिर चुर्क

बूंदाबांदी के आसार और गिरेगा तापमान

मौसम विभाग के अनुसार, मेरठ समेत दिल्ली-एनसीआर और वेस्ट यूपी के कुछ हिस्सों में बुधवार को तेज बूंदाबांदी के आसार हैं। हालांकि सुबह से ही बादल छाए हुए हैं, जो कि पूरे दिन रहने की संभावना है। इससे दिन के तापमान में और गिरावट होगी। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले दो दिनों तक इसी तरह से आसमान में बादल छाए रहने की उम्मीद जताई जा रही है।

मौसम वैज्ञानिक डॉ.एन सुभाष के अनुसार, मंगलवार की रात अधिकतम तापमान 23.8 और न्यूनतम 6.9 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ। दिन का पारा सामान्य से तीन और रात का चार डिग्री सेल्सियस कम बना हुआ है। सोमवार के सापेक्ष दिन के तापमान में 0.8 और रात में 1.1 डिग्री सेल्सियस की गिरावट हुई। सामान्य से चार डिग्री सेल्सियस कम तापमान होने से सर्द दिन जैसी स्थिति बनी है। डॉ. सुभाष के अनुसार आज बादल छाए रहेंगे और हल्की बूंदाबांदी हो सकती है।

वहीं, मौसम विभाग के वर्ष 2010 से 2020 तक नवंबर में न्यूनतम तापमान के दर्ज आंकड़ों के हिसाब से मेरठ में मंगलवार की रात 11 वर्षों में सर्वाधिक ठंडी रही। इससे पहले 15 नवंबर 2013 में ही न्यूनतम तापमान 7.4 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा था।

यह भी पढ़ें- ठंड ने नवबर में ही बनाया रिकाॅर्ड, वाराणसी दो डिग्री और नीचे आया तापमान

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned