स्वतंत्रता दिवस सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की साजिश, इन संवेदनशील जिलों में बढ़ाई सुरक्षा

Highlights

- वर्चुअल नंबरों से आ रही रिकार्डेड कॉल के जरिए सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश
- जोन में स्वतंत्रता दिवस पर अतिरिक्त सुरक्षा और सतर्कता
- एडीजी ने जिले के कप्तानों को दिए निर्देश

By: lokesh verma

Published: 13 Aug 2020, 10:56 AM IST

मेरठ. वर्चुअल नंबरों से आ रही रिकार्डेड कॉल के जरिए सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश की जा रही है। जिसको लेकर इस बार स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मेरठ जोन में अतिरिक्त सुरक्षा और सतर्कता के निर्देश दिए गए हैं। एडीजी जोन राजीव सबरवाल ने जोन के सभी जिलों के पुलिस कप्तान, रेलवे के एसपी को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए कहा है।

यह भी पढ़ें- स्वतंत्रता दिवस और मोहर्रम काे देखते हुए मेरठ में हाई अलर्ट

अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन के बाद से सोशल मीडिया पर जिस तरह सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की लगातार साजिश की जा रही है, उसे देखते हुए डीजीपी मुख्यालय ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सभी जोन के लिए गाइडलाइन जारी की है। इनमें जिन जोन को रेड अलर्ट पर रखा गया है, उनमें मेरठ जोन भी शामिल है। खासतौर से मेरठ जोन में सभी संवेदनशील जिलों में खुफिया विभाग को हर एक गतिविधि पर पैनी नजर रखने को कहा गया है। एडीजी ने 14 अगस्त से ही प्रभावी चेकिंग के साथ ही सभी संवेदनशील जिलों में सुरक्षा के अतिरिक्त बंदोबस्त किए जाने की बात कही है।

सोशल मीडिया पर वर्चुअल नंबरों से आ रही रिकार्डेड कॉल

स्वतंत्रता दिवस से पहले साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की साजिश का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा है। सोशल मीडिया पर विभिन्न वर्चुअल नंबर से रिकार्डेड कॉल और आपित्तजनक वीडियो वायरल करने का क्रम जारी है। कई वीडियो वायरल कर माहौल बिगाड़ने की साजिश की जा रही है। वर्चुअल नंबर के जरिए वॉट्सएप ग्रुप बनाकर भी लगातार जहर उगला जा रहा है। बीते चार दिनों से जहर उगला जा रहा है। इस तरह की कॉल मेरठ जोन में ही नहीं अपितु दिल्ली, महाराष्ट्र व अन्य स्थानों पर भी आपित्तजनक ऑडियो व वीडियो वायरल हो रहे हैं। आइबी समेत अन्य केंद्रीय खुफिया एजेंसियां भी लगातार सक्रिय हैं। हालांकि अब तक खुफिया एजेंसियां व पुलिस शरारती तत्वों तक पहुंचने में नाकाम हैं।

यह भी पढ़ें- लखनऊ से एक गलत कमांड ने जन्माष्टमी पर कर दिया लाखों घरों मे अंधेरा

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned