नई गाइडलाइन: HIV+ मरीजों को लगेगा कोविड टीका, इन बीमारी वालों का नहीं होगा Vaccination

Highlights:

— केंद्र सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन

— गर्भवती महिलाओं,टीबी के मरीजों को नहीं दी जाएगी वैक्सीन

— गंभीर सांस के रोगियों को भी लगेगी वैक्सीन

By: Rahul Chauhan

Published: 04 Mar 2021, 01:55 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मेरठ। कोविड—19 वैक्सीनेशन का तीसरा चरण की तैयारी अब अपने चरम पर है। इसके तहत जिन लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी केंद्र सरकार ने उसके लिए गाइड लाइन जारी कर दी है। जारी गाइड लाइन के अनुसार इस तीसरे चरण में एचआइवी संक्रमितों व गंभीर सांस रोगियों को भी वैक्सीन दी जाएगी। बशर्ते पिछले दो साल में सांस की बीमारी के चलते उन्हें किसी अस्पताल में भर्ती भी किया गया हो। केंद्र सरकार ने इन मरीजों का नाम कोरोना टीकाकरण की नई गाइडलाइन में शामिल कर लिया है। हालांकि टीबी मरीजों, गर्भवती महिलाओं व बच्चों को फिलहाल वैक्सीन नहीं दी जाएगी। शुगर-बीपी, किडनी, कैंसर व हार्ट के मरीज पहले से ही वैक्सीनेशन की गाइडलाइन में शामिल हैं। तीसरे चरण में इन सभी का टीकाकरण शुरू भी हो चुका है।

यह भी पढ़ें: पंचायत चुनाव से पहले इस दल ने घोषित की नई कार्यकारिणी

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. प्रवीण गौतम ने बताया कि नई गाइडलाइन में एचआइवी व सांस रोगियों के अलावा अप्लास्टिक एनीमिया ग्रस्त मरीजों को भी यह वैक्सीन दी जाएगी। इसमें शरीर खून की नई कोशिकाएं पर्याप्त मात्रा में बनाना बंद कर देता है। अप्लास्टिक एनीमिया बोन मैरो को हुए नुकसान की वजह से हो सकती है। यह जन्मजात भी होती है। कई बार गंभीर रेडिएशन व कीमोथेरेपी अथवा जहरीले रसायनों या दवाओं के संक्रमण के प्रकोप से भी अप्लास्टिक एनीमिया हो सकती है।

थैलेसीमिया रोगियों को भी लगेगी वैक्सीन

यह भी देखें: केंद्रीय मंत्री एम अब्बास नक़वी ने लगवाई कोविड़ वैक्सीन, कही यह बात

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी ने बताया कि नई गाइडलाइन में थैलेसीमिया के मरीजों व मस्कुलर डिस्ट्रॉफी से पीड़ित रोगियों को भी कोविड-19 वैक्सीन दिए जाने का निर्देश जारी किया जा चुका है। इसके अलावा यदि एक जुलाई 2020 के बाद किसी रोगी में गंभीर प्रकार के कैंसर होने की पुष्टि हुई है या किसी प्रकार से उनकी कैंसर थेरेपी की गई है तो वह भी वैक्सीन पाने के हकदार होंगे। कोविड-19 वैक्सीनेशन की नई गाइडलाइन में गंभीर मरीजों के हितों को ध्यान में रखते हुए सरकार ने काफी सहूलियत है दी है। पहले जहां सिर्फ पांच गंभीर बीमारी से पीड़ित मरीजों को ही वैक्सीन देने का निर्देश था तो वहीं अब इसमें 20 बीमारियों को शामिल कर लिया गया है। तीसरे चरण में ही इन सभी का टीकाकरण कर दिया जाएगा।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned