जान की बाजी लगाकर संक्रमण से लड़ने वाले कोरोना वॉरियर्स को नहीं मिला 5 माह से वेतन

Highlights
- डीएम को ज्ञापन देकर वेतन दिलाने की गुहार
- आउटसोर्सिग कंपनी ने वेतन देने से खींच लिए हाथ
- पिछले कई दिनों से मेडिकल कॉलेज परिसर में Corona Warriors दे रहे धरना

By: lokesh verma

Published: 04 Mar 2021, 03:26 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. कोरोना काल में मेडिकल कॉलेज में कार्यरत संविदा कर्मचारियों को पिछले 5 महीनों से वेतन नहीं मिला है, जिससे उनके घर में खाने के लाले पड़ गए हैं। वेतन नहीं मिलने पर मेडिकल कॉलेज परिसर में कोरोना वॉरियर्स (Corona Warriors) ने प्रदर्शन शुरू कर दिया है। उनका कहना है कि जब तक उन्हें उनका वेतन नहीं मिल जाता उनका प्रदर्शन जारी रहेगा। सरदार वल्लभ भाई पटेल मेडिकल कॉलेज में संविदा पर काम करने वाले धरनारत कर्मचारियों का कहना है कि जब तक इन्हें न्याय नहीं मिलता, तब तक वह धरने पर बैठे रहेंगे और काम का बहिष्कार करेंगे। इन कर्मचारियों के प्रदर्शन से स्वास्थ्य सेवा भी बाधित हो रही है, क्योंकि इन कर्मचारियों की संख्या सैकड़ों में है और पूरे कोरोना काल में इन कर्मचारियों ने पूरी मेहनत से अपना काम किया था।

यह भी पढ़ें- सरकारी अधिकारी और कर्मचारियों के जींस और टी-शर्ट पहनने पर लगा प्रतिबंध

कोरोना वॉरियर्स का कहना है कि लॉकडाउन के दौरान भी वह अपनी डयूटी को अंजाम दे रहे थे। इस दौरान कई लोगों को कोरोना भी हो गया। जान की बाज़ी लगाकर काम करने के बाद अब उनके सामने भूखे मरने की नौबत आ गई है। इन कर्मचारियों का ये भी कहना है कि अब मार्च में कांट्रैक्ट ख़त्म करने की बात भी कही जा रही है।

कोरोना वॉरियर्स का कहना है कि कोई दो सौ किलोमीटर तो कोई तीन सौ किलोमीटर से आकर यहां नौकरी कर रहा है। किराया देने के लिए भी पैसा नहीं है। वर्ष 2016 से आउटसोर्सिंग का ये स्टाफ मेडिकल कॉलेज में काम कर रहा है। ये कम्पनी का दायित्व है कि वह सैलरी दे। कम्पनी और मेडिकल कॉलेज प्रशासन के बीच अगर कोई पिसरहा है तो आउटसोर्सिंग स्टाफ, जिन्होंने लॉकडाउन के वक्त कोरोना वॉरियर बनकर काम किया और आज भी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- अजीबोगरीब लव स्टोरी : चार प्रेमियों संग भागी एक लड़की शादी को लेकर हुई कन्‍फ्यूज, पंचायत ने पर्ची से निकाला हल

lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned