Schools को लेकर जारी हुआ नया फरमान, Website बनाकर छात्रों के लिए अपलोड करनी होगी वीडियो

Highlights:

— मेरठ के 200 से अधिक सरकारी और प्राइवेटे इंटर स्कूल होंगे हाईटेक

— डीआईओएस ने सभी स्कूलों को दिेए निर्देश

— नई शिक्षा नीति के तहत लागू की गई व्यवस्था

By: Rahul Chauhan

Published: 17 Feb 2021, 02:39 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मेरठ। अब स्कूलों को भी हाईटेक करने की कवायद की जा रही है। इसके तहत जिले के सभी माध्यमिक विद्यालयों की अपनी वेबसाइट होगी। इस वेबसाइट पर स्कूल से जुड़ी तमाम गतिविधियां तो होगी हीं साथ ही शिक्षकों को भी इसमें विषयवार अपनी वीडियो डालनी होगी। इतना ही नहीं जरूरत पड़ने पर छात्र—छात्राएं आनलाइन पढाई भी कर सकेंगे। नई शिक्षा नीति के तहत अब माध्यमिक शिक्षा स्कूलों को हाईटेक करने की तैयारी की जा रही है। इसके तहत मेरठ के करीब 200 से अधिक सरकारी और प्राइवेट स्कूलों की अपनी वेबसाइट होगी। जिसमें स्कूल से संबंधित समस्त ब्योरा दर्ज किया जाएगां इसमें जिले के सभी वित्तीय सहायत प्राप्त और वित्तविहीन स्कूलों की अपनी वेबसाइट होगी। डीआईओएस गिरजेश चौधरी ने सभी स्कूलों को निर्देश दे दिए हैं।

यह भी पढ़ें: सेना भर्ती के नाम पर युवाओं से लाखों की ठगी, आर्मी इंटेलिजेंस ने गैंग के सरगना को पकड़ा

उन्होंने बताया कि नई शिक्षा नीति लागू की गई है, उसमें शिक्षा पद्धति को मजबूत करने के साथ-साथ स्कूलों को ऑनलाइन प्रक्रिया से जोड़ा गया है। खासतौर से माध्यमिक शिक्षा और स्कूलों को हाइटेक करने पर जोर दिया गया है। नई शिक्षा नीति में माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधीन आने वाले सभी स्कूलों को हाईटेक किए जाएंगे।

ये होगा लाभ

इसके तहत वित्तीय सहायता प्राप्त और प्राइवेट स्कूलों की वेबसाइट तैयार होगी और उस पर स्कूलों का पूरा डाटा अपलोड होगा। इसमें कक्षा वार छात्र-छात्राओं की संख्या, विद्यालय को किस-किस विषय की मान्यता है और उनके सेक्शन, टीजीटी-पीजीटी के शिक्षक और स्कूल का फोन नंबर सहित अन्य सभी जानकारियां वेबसाइट पर डाली जाएंगी। स्कूल पूरी तरह से हाईटे होंगे और छात्र-छात्राएं प्रवेश के लिए वेबसाइट पर जानकारी लेकर आवेदन कर सकेंगे। माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने सभी स्कूलों को जल्द से जल्द से वेबसाइट तैयार करने के आदेश दिए हैं।

यह भी देखें: FasTag की अनिवार्यता के लिए सरकार हुई सख्त

शिक्षक करेंगे वीडियो अपलोड

स्कूलों की वेबसाइट तैयार होने के बाद शिक्षक अपने-अपने विषयों की पढ़ाई की वीडियो बनाकर उसे वेबसाइट पर अपलोड करेंगे। जिससे बोर्ड परीक्षार्थी या फिर अन्य कक्षाओं के छात्र-छात्राएं घर बैठे ऑनलाइन पढ़ाई कर सकें। एक घंटे की यह वीडियो होगी।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned