अब तलाकशुदा महिलाएं भी ले सकेंगी पीएम मोदी की इस योजना का लाभ

Highlights
- शासन ने दी मंजूरी, सीएमओ को भेजे निर्देश
- सीएमओ ने डीपीओ से मांगी तलाकशुदा महिलाओं की सूची
- प्रत्येक वर्ग की तलाकशुदा महिलाओं को मिलेगा जन आरोग्य योजना का लाभ

By: lokesh verma

Published: 17 Feb 2021, 12:33 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. अब तलाकशुदा महिलाएं भी प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ ले सकेंगी। इसके लिए उन्हें किसी प्रकार के पात्रता की कोई जरूरत नहीं होगी। ऐसी महिलाओं को योजना का समुचित लाभ मिल सके, इसके लिए शासन ने सीएमओ कार्यालय को ऐसी महिलाओं की सूची तैयार करने तथा उनका स्मार्ट कार्ड बनवाने के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जाने का निर्देश दिए हैं। इस पर सीएमओ कार्यालय ने जिला प्रोबेशन अधिकारी को पत्र भेजकर प्रत्येक वर्ग की तलाकशुदा महिलाओं की सूची उपलब्ध कराने को कहा है।

यह भी पढ़ें- काशी में खुला प्रदेश का पहला ट्रांसजेंडर शौचालय, महापौर ने किया उद्घाटन, सलमान चौधरी को बनाया स्वच्छता दूत

बीपीएल कार्डधारकों को नि:शुल्क व बेहतर इलाज मिल सके, इसके लिए केंद्र सरकार की ओर से प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का संचालन किया जा रहा है। योजना का समुचित लाभ पात्रों को मिल सके, इसके लिए अभियान चलाकर पात्रों का गोल्डन कार्ड बनाया जाता है। ऐसे कार्ड के माध्यम से पात्र चयनित अस्पतालों में पांच लाख रुपये तक का इलाज करा सकते हैं। योजना का अधिक से अधिक लाभ पात्रों को मिल सके, इसके लिए शासन के निर्देश पर लगातार अभियान चलाकर पात्रता सूची में शामिल पात्रों का गोल्डन कार्ड बनाया जा रहा है। अब तक इस योजना का लाभ सिर्फ बीपीएल कार्डधारक परिवार को ही मिलता चला आ रहा है। अब शासन के नए निर्देशानुसार प्रत्येक वर्ग की तलाकशुदा महिलाओं को भी योजना का लाभ मिलेगा।

सीएमओ अखिलेश मोहन ने बताया कि बीते दिनों ही शासन से सीएमओ कार्यालय को प्राप्त पत्र हुआ है, जिसमें कहा गया है कि तलाकशुदा महिलाओं का चयन कर उनका गोल्डन कार्ड बनवाया जाए, ताकि उन्हें भी योजना का समुचित लाभ मिल सके। सीएमओ कार्यालय ने बीते दिनों ही जिला प्रोबेशन अधिकारी को पत्र भेजकर तलाकशुदा महिलाओं की सूची कार्यालय को उपलब्ध कराने को कहा है।

नि:शुल्क बन रहा गोल्डन कार्ड

योजना के तहत अब उन महिलाओं का भी नि:शुल्क इलाज सुनिश्चित हो सकेगा, जो तलाकशुदा हैं। इसके लिए उन्हें किसी विशेष पात्रता सूची में शामिल होने की जरूरत नहीं है। चयनित अस्पतालों में नि:शुल्क गोल्डन कार्ड बन रहा है। ऐसे में पात्रों को चाहिए कि योजना का समुचित लाभ उठाने के लिए गोल्डन कार्ड जरूर बनवा लें। इसके अलावा जनसेवा केंद्रों पर भी 30 रुपये शुल्क देकर गोल्डन कार्ड बनवा सकते हैं।

यह भी पढ़ें- 25 फरवरी से यहां बंटेगा 300 क्विंटल देसी घी, केवल इनको दिया जाएगा एकदम फ्री

lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned