नंबर वन डीएम बनीं बी. चंद्रकला, यूपी के सभी अधिकारियों को पछाड़ा

नंबर वन डीएम बनीं बी. चंद्रकला, यूपी के सभी अधिकारियों को पछाड़ा
B chandrakala

sandeep tomar | Publish: Dec, 23 2016 07:47:00 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

फायरब्रांड डीएम और आईएएस ऑफिसर बी. चंद्रकला की लोकप्रियता का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है

नोएडा: यूपी की फायरब्रांड डीएम और आईएएस ऑफिसर बी. चंद्रकला की लोकप्रियता का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। जल्द ही वो लोकप्रियता के मामले प्रदेश के बड़े प्रशासनिक अधिकारियों को सबसे पीछे छोड़ सकती हैं। इसके लिए एक सर्वे भी कराया जा रहा है। जिसमें वो अभी तक टॉप पर बनी हुई हैं। वैसे अभी वोटिंग जारी हैं। आने वाले कुछ दिनों में नंबर वन आईएएस ऑफिसर का नाम उजागर हो जाएगा। आपको बता दें कि बी. चंद्रकला मौजूदा समय में मेरठ की डीएम हैं। पिछले कुछ समय में ही उन्होंने अपनी कार्यप्रणाली की वजह से काफी लोकप्रिय भी हो चुकी हैं।

ये भी किसी से कम नहीं

लखनऊ की एक निजी संस्था द्वारा किये जा रहे सर्वे में उत्तर प्रदेश के लोकप्रिय आईएएस अधिकारियों में सबसे ज्यादा वोट पाकर मेरठ की डीएम बी.चन्द्रकला टॉप पर हैं। इनके साथ-साथ लखनऊ के पूर्व डीएम राजशेखर व वाराणसी के डीएम योगेश्वर राम मिश्र भी सबसे ज्यादा वोट पाने वालों में शामिल हैं। वहीं किंजल सिंह और अमृत त्रिपाठी भी लोगों की लोकप्रियता की वजह से वोट पाने सफल हो रहे हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार वोटिंग में अभी तक सबसे आगे डीएम बी. चंद्रकला ही आगे चल रही हैं।

ये भी नंबर वन की दौड़ में

जिलाधिकारियों के सर्वे में अभी तक सबसे ऊपर नाम बी. चंद्रकला का ही आ रहा है। लेकिन अभी भी नंबर वन के पायदान को लेकर तगड़ी टक्कर चल रही है। टॉप 10 में डीएम सीतापुर अमृत त्रिपाठी, डीएम कानपुर कौशलराज, डीएम बिजनौर जगतराज त्रिपाठी, किंजल सिंह व अनिता सिंह भी शामिल है। प्राप्त जानकारी के अनुसार वोटिंग का माध्यम वॉट्सएप के अलावा फेसबुक मैसेंजर, ट्विटर और बाकी सोशल नेटवर्किंग साइट्स से भी की जा सकती है। 26 दिसंबर को इसके नतीजे प्राप्त होंगे। उसके बाद ही लोकप्रियता में नबंर वन आईएएस अधिकारी की घोषणा की जायेगी।

आखिर बी. चंद्रकला नंबर वन क्यों?

डीएम बी. चंद्रकला वोटिंग में नंबर वन रहने का मुख्य कारण लोगों में लगातार बढ़ती लोकप्रियता है। ये लोकप्रियता बढ़ी तब शुुरु हुई जब उन्होंने बुलंदशहर में डीएम रहते ठेकेदारों के काम पर सवाल उठाते हुए फटकार लगाई थी। उसके बाद उन्होंने काम में शिथिलता को लेकर कई कार्रवाई भी की। जब वो मेरठ आई तो उन्होंने शहर में सफाई को लेकर बड़ा अभियान चलाया। उसके बाद पेटिंग के माध्यम से मेरठ का नाम गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में दर्ज करा दिया। इस बारे में जब डीएम बी. चंद्रकला से बात की गई तो उन्होंने कहा कि, इस बारे में मैंने भी सुना है लेकिन ये सर्वे कहां और कैसे हो रहा है इसकी जानकारी मुझे नहीं है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned