आस्ट्रेलिया से लौटे रि. कर्नल के बेटे ने पेट्रोल पंप पर 10 मिनट तक दौड़ाई कार, इधर-उधर भागते रहे सेल्समैन

Highlights

- रिटायर्ड कर्नल के नशेड़ी बेटे ने पेट्रोल पंप पर एक सेल्समैन को कुचला
- Lucknow से आया फोन तो दौड़े कप्तान और एसपी सिटी
- Meerut पुलिस ने मामला दर्ज कर दोस्त समेत भेजा हवालात

By: lokesh verma

Published: 04 Jul 2020, 10:48 AM IST

मेरठ. आस्ट्रेलिया ( Australia ) से पढ़कर लौटे रिटायर्ड कर्नल ( Retired colonel ) के नशेड़ी बेटे द्वारा पेट्रोल पंप पर दबंगई दिखाने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि पहले आरोपी ने कार में खुद तेल डाला। इस पर विवाद होने के बाद उसने कार से सेल्समैन को कुचल दिया। नशेड़ी युवक करीब 10 मिनट तक पेट्रोल पंप पर कार को दौड़ाता रहा और पेट्रोल पंप पर तैनात अन्य सेल्समैन इधर-उधर छिपकर अपनी जान बचाते रहे। फिलहाल पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़ें- सांसद आजम खान की ट्रस्ट के नाम कर दी शत्रु संपत्ति, तत्कालीन प्रशासनिक अधिकारी गिरफ्तार

दरअसल, मेरठ ( Meerut ) के कंकरखेड़ा के शोभापुर स्थित पेट्रोल पंप पर रिटायर्ड कर्नल का पुत्र कार में तेल भरवाने पहुंचा था। कर्नल पुत्र और उसका दोस्त दोनों नशे में धुत्त थे। पहले उसने पंप से कार में तेल भरवाया फिर सेल्समैन से उलझ गया। विरोध करने पर मारपीट हो गई। पुलिस कार सवार दोनों लोगों को उठाकर थाने ले गई। जहां से दोनों को छोड़ दिया गया। थाने से ही कार लेकर रिटायर्ड कर्नल का बेटा पेट्रोल पंप पर फिर से पहुंचा। वहां पर एक सेल्समैन को कार से कुचल दिया। मामला लखनऊ तक गूंजा तो कप्तान और एसपी सिटी मौके पर पहुंचे। उसके बाद लूट और जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज कर दोनों को पकड़ लिया गया।

कंकरखेड़ा के शोभापुर स्थित शिव फिलिंग सेंटर के मालिक टीपीनगर में रहने वाले धनेंद्र जैन हैं। धनेंद्र जैन के मुताबिक, रात को करीब दस बजे उनके पेट्रोल पंप पर काले रंग की ब्रेजा में सवार दो युवक पहुंचे। उन्होंने बिना सेल्समैन के ही पंप से नोजल उठाकर कार की टंकी में डीजल भर लिया। सेल्समैन के विरोध करने पर मारपीट को उतारू हो गए। सभी सेल्समैन और गार्ड ने एकत्र होकर दोनों को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया। दोनों की पहचान उत्कर्ष यादव पुत्र उदय सिंह यादव निवासी वीआई लाइन लालकुर्ती और रोहन जैन पुत्र विजय पाल सरस्वती लोक ब्रह्मपुरी के रूप में हुई। उत्कर्ष आस्ट्रेलिया में रहता हैं, उसके पिता रिटायर्ड कर्नल हैं, जो फिलहाल बिल्डर का काम देख रहे हैं।

आरोप है कि कुछ ही देर में पुलिस ने दोनों को छोड़ दिया। उसके बाद उत्कर्ष कार में सवार होकर सीधा थाने से पेट्रोल पंप पर पहुंचा। जहां पर कर्मचारी विजय कुमार के ऊपर कार को चढ़ा दिया। उसके बाद बाकी सेल्समैन के ऊपर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया। एक मशीन भी तोड़ डाली। सेल्समैन ने केबिन में घुसकर जान बचाई। धनेंद्र जैन ने मामले की जानकारी लखनऊ दी। उसके बाद एडीजी राजीव सभरवाल को कॉल आई, उसके बाद पुलिस सक्रिय हुई। खुद कप्तान और एसपी सिटी मौके पर पहुंचे। पंप स्वामी की तहरीर पर लूट और जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज कर लिया है। इस बारे में एसपी सिटी डाॅ. एएन सिंह ने बताया कि कार सवार युवकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। दोनों को मेडिकल के लिए भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें- कानपुर में पुलिस पर हमले के आरोपी विकास दुबे को लेकर मेरठ जोन में भी अलर्ट

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned