मायावती और अखिलेश के करीबी रहे पूर्व मंत्री को शिवपाल यादव ने बनाया राष्ट्रीय महासचिव

Highlights:

-जगवीर सिंह गुर्जर ने अपने हजारों समर्थकों के साथ लखनऊ में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया

-चौधरी जगवीर सिंह गुर्जर मेरठ लोकसभा सीट से 2 बार सपा के प्रत्याशी रह चुके हैं

-उन्होंने मजबूत चुनाव लड़ा था, लेकिन दोनों बार उनको हार का सामना करना पड़ा

मेरठ। पश्चिमी यूपी में कभी मायावती की पार्टी बीएसपी का चेहरा रहे पूर्व कैबिनेट मंत्री चौधरी जगवीर सिंह गुर्जर ने अपने हजारों समर्थकों के साथ लखनऊ में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया। चौधरी जगवीर सिंह गुर्जर मेरठ लोकसभा सीट से 2 बार सपा के प्रत्याशी रह चुके हैं। उन्होंने मजबूत चुनाव लड़ा था, लेकिन दोनों बार उनको हार का सामना करना पड़ा।

यह भी पढ़ें : आज से 75 लाख स्मार्टफोन में नहीं चलेगा Whatsapp

m_1.jpg

जगवीर सिंह गुर्जर सपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य के साथ साथ मेरठ के जिलाध्यक्ष भी रह चुके हैं। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया शिवपाल सिंह ने जगवीर गुर्जर को प्रसपा का राष्ट्रीय महासचिव नियुक्त किया है। जगवीर सिंह गुर्जर को पश्चिमी यूपी के कद्दावर नेताओं में गिना जाता है। पूर्व कैबिनेट मंत्री चौधरी जगवीर सिंह गुर्जर ने अपने समर्थकों के साथ लखनऊ में शिवपाल यादव की पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (पीएसपी) में शामिल हुए।

यह भी पढ़ें : 1 फरवरी से बदल गए ATM, WhatsApp और जीवन बीमा से जुड़े कई नियम, आपकी जिंदगी पर पड़ेगा सीधा असर

जानकारी के लिए बता दें कि बसपा सरकार में जगबीर सिंह गुर्जर को किसी सदन का सदस्य नहीं होने पर भी मायावती ने अपनी सरकार में कैबिनैट मंत्री बनाया था और सहकारिता विभाग जैसा अहम विभाग सौंपा था। जानकारों का कहना है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गुर्जर नेता होने के नाते पीएसपी को इसका फायदा मिल सकता है। वहीं प्रसपा में शामिल होने के बाद जगवीर सिंह गुर्जर ने बताया कि वर्तमान में सभी पार्टियां वोट बैंक की राजनीति कर रही हैं। प्रसपा ही एक ऐसी पार्टी है जो भाजपा के प्रभाव को कम कर सकती है। उन्होंने प्रसपा को बेदाग पार्टी बताते हुए भविष्य में उसको मजबूत करने की बात कही।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned