एनसीआर में बेचे जा रहे थे नामी कंपनी के नकली पीवीसी पाइप

एनसीआर और आस-पास के क्षेत्र में हो रही थी सप्लाई
कंपनी ने गुपचुप तरीके से पुलिस के साथ मिलकर की छापेमारी
दिल्ली से की जा रही थी नकली पीवीसी पाइप की सप्लाई

By: shivmani tyagi

Updated: 22 Jul 2021, 07:12 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ ( Meerut ) बाजार में ब्रांडेड पीवीसी पाइप ( Fake PVC pipes ) के नाम पर नकली पाइप की भरमार है। एनसीआर में एक नामी कंपनी के नाम से नकली पाइप बनाकर सप्लाई की जा रही थी। मेरठ, गाजियाबाद, मोदीनगर, दिल्ली में इन नकली पाइपों की सप्लाई पर कंपनी के मालिक और दिल्ली पुलिस ने बाजार में छापेमारी की कमान संभाली और लाखों का माल इन जगहों से जब्त कराया। कंपनी ने दिल्ली के दो खुदरा व्यापारियों के खिलाफ मोहन गार्डन पुलिस स्टेशन में एक शिकायत दर्ज कराई है। ये खुदरा व्यापारी कंपनी के नाम पर नकली माल एनसीआर में बेच रहे थे। छापेमारी में नकली पाइप के 229 टुकड़े जब्त किए गए हैं।


विदेश स्थित मुख्यालय को लगी पहले जानकारी
हैरानी की बात है कि मेरठ और एनसीआर में कंपनी के नाम से नकली पीवीसी पाइप सप्लाई हो रहे थे और इसकी जानकारी सबसे पहले कंपनी के विदेश स्थित मुख्यालय को हुई। कंपनी का मुख्यालय अमेरिका में है।

नकली पीवीसी पाइप भवन निर्माण में हानिकारक
निर्माण में नकली पीवीसी पाइप एक बार लग गया तो पूरे भवन की आयु को घुन की तरह खा जाता है। नकली पीवीसी पाइप के रिसने या लीक होने से भवन की नींव तक असर पड़ता है। इसका पता भी कई वर्षों के बाद चलता है जब तक भवन जर्जर हो

पहले भी पकड़ा जा चुका है नकली खेल का सामान
मेरठ में इससे पहले भी कई बार नामी कंपनियों का खेल का नकली सामान पकड़ा जा चुका है। कई बार गैर राज्यों से आई टीमों ने छाप मारकर इसका खुलासा किया है। इससे साफ है कि अगली बार जब भी आप बाजार में कुछ खरीदने जाएं तो सावधानी जरूर बरतें।

यह भी पढ़ें: 700 करोड़ की लागत से बनने वाली खेल यूनिवर्सिटी से निकलेंगी प्रतिभाएं

यह भी पढ़ें: सदन में गूंजेगा 69000 शिक्षक भर्ती घोटाले का मुद्दा, राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने शून्यकाल के दौरान नोटिस देकर मांगा वक्त

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned