माइक्रोसॉफ्ट की नौकरी छाेड़ गांव की देशी जमीन में विदेशी सब्जी उगाकर लाखाें कमा रहे चाचा-भतीजे

  • दाेनाें चाचा भतीजों ने छाेड़ी अपनी नाैकरी और शुरू की खेती
  • दिल्ली समेत कई राज्यों की मंडियों में सब्जी कर रहे सप्लाई

By: shivmani tyagi

Published: 18 Jan 2021, 05:56 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क
मेरठ ( UP farmer news ) खेती किसानी अब घाटे का साैदा नहीं रही। बस आपकाे थाेड़ा वैज्ञानिक तरीका अपनाना हाेगा। यह सलाह यूं ही नहीं दी जा रही. मेरठ के किसान चाचा-भतीजों ने यह साबित कर दिखाया है। माईक्रोसॉफ्ट ( Microsoft job ) की नाैकरी छोड़कर खेती अपनाने वाले मेरठ के किसान चाचा-भतीजे अब नजीर बन गए हैं।

यह भी पढ़ें: 'तांडव' को लेकर बवाल, जूना अखाड़े ने कहा- समझाने का वक्त नहीं, ये लोग जहां मिले चाटे मारो

मेरठ के युवा किसान माइक्रोसाफ्ट ( Microsoft ) जैसी कंपनी की नौकरी छोड़ी और अपने गांव के देशी धरती पर विदेशी सब्जियों की खेती शुरू की। आपकाे जानकर हैरानी हाेगी कि अब दाेनाें चाचा-भतीजे हर महीनें लाखाें रुपये कमा रहे हैं। इतना ही नहीं वैज्ञानिक तरीके हाे रही इस खेती से सिर्फ उनकाे ही फायदा नहीं हाे रहा बल्कि वह दूसराें काे भी राेजगार दे रहे हैं।

यह भी पढ़ें: गोकश को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला, पथराव और फायरिंग मेें कई सिपाही घायल

चाचा-भतीजे की सब्जियों की धाक मेरठ की मंडी से लेकर दिल्ली और अन्य राज्य की मंडियों तक जमी हुई है। आईटी सेक्टर के खिलाड़ी दोनों चाचा-भतीजों का दिमाग खेती में भी उसी तेजी से चलता है जिस तेजी से माइक्रोसाफ्ट कंपनी में नौकरी के दौरान चलता था। चाचा ने माइक्रोसॉफ्ट जैसी कम्पनी से वीआरएस लिया तो भतीजे ने इसी कम्पनी की जॉब छोड़कर अपने गांव का रुख किया।

इन सब्जियों की कर रहे खेती
चाचा भतीजे अपने खेत में टमाटर, धनिया, पुदीना, शिमला मिर्च, खीरा, पालक, मटर, लौकी, बैंगन, भिंडी को बिना किसी केमिकल की सहायता से ऑर्गेनिक तरीके से उगाने के साथ-साथ विदेशी सब्ज़ियां जैसे चाइनीज़ कैवीज़, ब्रोकली, चेरी टमाटर, लेमन ग्रास, केल और पार्सले का भी उत्पादन किया। चाचा-भतीजे का पॉलीहाउस इतना ख़ूबसूरत लगता है कि दूर-दूर से लोग ख़ासतौर से युवा यहां सेल्फी लेने आते हैं। युवाओं का कहना है कि चाचा-भतीजे ने ऐसी धरती पर ऑर्गेनिक सोना उगा दिया है, जहां सब कुछ बंजर था।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned