अब FD में कम समय में डबल होगा पैसा, Loan लेना होगा महंगा

Highlights

- आरबीआई की नई पॉलिसी से एफडी निवेशकों को मिलेगा लाभ

- होम लोन, ऑटो और पर्सनल लोन लेने वालों की मुश्किलें बढ़ेंगी

- लोन पर फिर से ब्याज दर बढ़ाएंगे बैंक

By: lokesh verma

Published: 06 Feb 2021, 03:51 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. आने वाले दिनों में बैंक से लोन (Bank Loan) से लेने की सोचना टेढ़ी खीर होगा। कारण रिजर्व बैक ऑफ इंडिया (RBI) जल्द ही अपनी नई पॉलिसी लाने वाला है, जिसके तहत बैंक से लेने वाले सभी प्रकार के लोन (Loan) पर ब्याज दर बढ़ा दी जाएंगी। इसके साथ ही फिक्स डिपॉजिट (Fixed Deposit) पर भी ब्याज दर बढ़ेगी, जिससे बैंक में फिक्स डिपॉजिट करने वाले निवेशकों की बल्ले-बल्ले होगी।

यह भी पढ़ें- हफ्तेभर से गिर रहे सोने के भाव, जानिये गिरते-गिरते कहां पहुंचे रेट

मेरठ के लीड बैंक व सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के प्रबंधक संजीव कुमार के अनुसार, आरबीआई की वैसे तो यह कोई नई स्कीम नहीं है। ब्याज दरें कम और ज्यादा होती रहती हैं। हर बैंक की ब्याज दरें (Bank Interest Rates) अलग-अलग होती हैं। लोन हो या फिर फिक्स डिपाजिट दोनों में ही बैंकों की अपनी ब्याज दरें चलती हैं। लेकिन, उन्हें ब्याज दरें आईबीआई के नियमों के मुताबिक ही रखनी होती है। उन्होंने बताया कि पिछले कुछ समय से फिक्स डिपाजिट पर ब्याज दरें कम रही हैं, जिसके चलते लोगों ने बैंकों में फिक्स डिपाजिट कराना कम कर दिया। नतीजा बैंकों के पास लिक्विड कम होने लगा। जबकि लोन लेने वालों की संख्या काफी बढ़ गई। इसके साथ ही एनपीए भी काफी बढ़ गया। इसी को ध्यान में रखते हुए होम, ऑटो, पर्सनल, एजुकेशन लोन पर ब्‍याज बढ़ाने का संकेत आरबीआई ने दिया है।

उन्होंने बताया कि वैसे तो आरबीआई ने पॉलिसी रेट में बढ़ोतरी नहीं की है, लेकिन बैंकों के कैश रिजर्व रेशियो को कोरोना संक्रमण के पहले के स्‍तर जितना बढ़ाने के लिए कहा है। इसका मतलब यह हुआ कि बैंकों के पास लिक्विडिटी घटेगी। लिहाजा, उन पर ब्‍याज दरों को बढ़ाने का दबाव रहेगा। इस कदम से बैंकों के पास कर्ज देने के लिए हाथ में कम फंड बचेंगे। इस तरह वे लोन पर ब्‍याज दरें बढ़ाएंगे।

बता दें कि केंद्रीय बैंक ने ऐलान किया है कि वह अगले चार महीनों में सीआरआर (CSR) को 3 फीसदी से बढ़ाकर 4 फीसदी करेगा। पहले चरण में सीआरआर यानी कैश रिजर्व रेशियो 27 मार्च 2021 में बढ़ाकर 3.5 फीसदी किया जाएगा। दूसरे चरण में 22 मई 2021 को यह रेट बढ़कर 4 फीसदी हो जाएगा।

यह भी पढ़ें- एक मार्च से इन बैंकों से पुराने नियम से नहीं कर पाएंगे लेनदेन, खाताधारक जल्दी करें ये काम

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned