पाकिस्तान काे भारतीय सेना की गाेपनीय सूचना भेजने के आरोप में हापुड़ से पूर्व फाैजी गिरफ्तार

  • मेरठ एटीएस ने किया हापुड़ से गिरफ्तार
  • पहले भी फौजी को हिरासत में ले चुकी है एटीएस
  • सेना से जुड़ी जानकारी ISI को भेजने का आराेप

By: shivmani tyagi

Updated: 08 Jan 2021, 09:33 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ ( meerut news ) एसटीएफ ( STF ) ने सैन्य गतिविधियों से जुड़ी जानकारी पाकिस्तान (Pakistan) की खुफिया एजेंसी ISI को भेजने के आरोप में एक पूर्व सैनिक को गिरफ्तार किया है। इस फौजी को मेरठ मंडल के हापुड जनपद से गिरफ्तार किया गया है। पूर्व फौजी का नाम सौरभ शर्मा बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: मुरादनगर घटना के बाद अब 50 लाख रुपए से अधिक लागत के निर्माण की जांच करेंगी तकनीकी समिति

गिरफ्तारी के बाद एटीएस मेरठ की टीम आराेपी पूर्व सैन्यकर्मी को लखनऊ लेकर रवाना हो गई। इसकी भनक स्थानीय पुलिस को कानोकान नहीं लगी। एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने जब इस प्रकरण पर मीडिया को जानकारी दी। इसके बाद ही हापुड पुलिस को पूर्व फौजी की गिरफ्तारी के बारे में पता चल सका। आरोप है कि पूर्व फौजी सौरभ शर्मा देश की आंतरिक गतिविधियों से जुड़ी सूचनाओं को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई को लीक कर रहा था। एटीएस का दावा है कि इस संबंध में तमाम साक्ष्य जुटाने के बाद ही गिरफ्तारी की गई है।

यह भी पढ़ें: जहरीली शराब कांड: गुस्से में सीएम कई अफसरों पर गिरी गाज

बताया जा रहा है कि एटीएस ने इससे पहले भी पूर्व फौजी को हिरासत में लिया था लेकिन उस समय पूछताछ के बाद छोड़ दिया था। उस समय आरोपी के खिलाफ कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले थे। अब पुख्ता सबूत मिलने के बाद ही एटीएस की विशेष जांच टीम ने पूर्व फौजी को हिरासत में लिया है। फौजी सौरभ को एटीएस की टीम लखनऊ लेकर रवाना हो गई है।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस और बर्ड फ्लू में सामने आई कई समानता, आप भी जानिए क्या कहते हैं विशेषज्ञ

यह हापुड़ के बहादुरगढ़ थाना के बिहुनी गांव का रहने वाला है। सौरभ छह माह पहले ही सेना से सेवानिवृत्त हुआ था। इस संबंध में लखनऊ के एटीएस थाने में सौरभ शर्मा के खिलाफ ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली है। रिपाेर्ट में कहा गया है कि, एक पूर्व सैनिक सेना से जुड़ी गोपनीय जानकारी पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी और अन्य देशों को भेजता था। अभियुक्त ने एटीएस की जांच के दौरान अपना अपराध स्वीकार कर लिया है। इस आधार पर अभियुक्त को गिरफ़्तार किया गया है।

यह भी पढ़ें: मुरादनगर घटना के बाद अब 50 लाख रुपए से अधिक लागत के निर्माण की जांच करेंगी तकनीकी समिति

इसकी जानकारी सेना की खुफिया एजेंसियों को भी दी जा चुकी है। एटीएस द्वारा पूर्व फौजी को गिरफ्तार की सूचना पर सैना की गुप्तचर इकाइयां भी सक्रिय हो गई हैं। बता दें कि हापुड के बाबूगढ में सेना की छावनी हैं। बताया जाता है कि पूर्व फौजी ने बाबू गढ़ सैन्य छावनी की गुप्त जानकारी पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई को भेजी है।

Show More
shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned