Countdown 2020: Gold के लिए बंपर साल साबित हुआ 2020, जानिये कितने तक पहुंचा सोने का भाव

Highlights:

-इस साल सोना दे चुका 27 प्रतिशत रिटर्न

-कोरोना महामारी में भी जारी रही सोने की खरीद

By: Rahul Chauhan

Published: 29 Dec 2020, 12:25 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मेरठ। कोरोना संक्रमण से जूझे वर्ष 2020 में अगर किसी के लिए यह साल बेहतर साबित हुआ तो वह है सोना और उनमें निवेश करने वाले। कोरोना संक्रमण के बीच भी इस साल इस कीमती धातु की कीमतों में वृद्धि बरकरार रही। इस साल निवेशको के लिए सोना 'सेफ हैवन एसेट' के रूप में निवेश का विकल्प बना रहा।

अब तक सोना दे चुका 27 फीसद रिटर्न

ज्वैलर्स एसोसिएशन के प्रवक्ता और सोने—चांदी की कीमतों पर नजर रखने वाले सर्राफ आशुतोष अग्रवाल के मुताबिक वर्ष 2020 में सोना निवेशकों के लिए सबसे बेहतर परफॉर्म करने वाला एसेट रहा। साल 2020 में अब तक कॉमेक्स पर सोने ने 23 फीसद का रिटर्न दिया है। इस धातु ने निवेशकों को 27 फीसद तक का रिटर्न दिया। आशुतोष ने बताया कि साल 2019 में यूएस-चीन ट्रेड वॉर और अमेरिकी फेड के आक्रामक रुख के चलते सोने की कीमतों में करीब 10 फीसद का उछाल आया। इसके बाद कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप, व लॉकडाउन के चलते मंदी की आशंका के कारण साल 2020 में सोने की खरीद जारी रही और भाव बढ़ते गए। यहीं कारण रहा कि कोरोना संक्रमण काल में निवेशकों की पहली पसंद सोना ही बना रहा।

यह भी पढ़ें: बच्चों को घर से बाहर भेज प्रेमी संग रंगरलियां मना रही थी महिला, तभी पहुंच गया पति

रुपये में गिरावट से सोने को मिली मदद:—

एमसीएक्स के कारोबारी कमलेश मिश्रा के मुताबिक कॉमेक्स पर इस समय सोने की कीमतें 1860 डॉलर प्रति औंस के करीब कारोबार कर रही हैं। वैक्सीन के विकास के चलते और अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव की समाप्ति ने बाजार की अनिश्चितता को कम कर दिया है। यही कारण है कि सोने की कीमतें अगस्त, 2020 के 2075 डॉलर प्रति औंस के अपने उच्चतम स्तर से नीचे आ गई हैं।

यह भी देखें: लूट की घटनाओं के मददेनजर थाना पुलिस हुई अलर्ट

उन्होंने बताया कि एमसीएक्स पर सोने की कीमतें भी अगस्त महीने में 56000 रुपये प्रति 10 ग्राम के उच्च स्तर को छूने के बाद इस समय 49700 रुपये प्रति 10 ग्राम के आस-पास कारोबार कर रही हैं। इस साल डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपये में गिरावट के चलते भारत में सोने की कीमतों को अतिरिक्त सपोर्ट मिला है। उन्होंने बताया कि इस साल में अब तक भारतीय रुपये में डॉलर के मुकाबले करीब तीन फीसद की गिरावट आई है।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned