scriptGovernment employees to cut election duty circling the control room | UP Assembly Election 2022 : चुनावी डयूटी कटवाने को मैडम से लेकर बाबू तक परेशान,कारण जान हो जाएंगे हैरान | Patrika News

UP Assembly Election 2022 : चुनावी डयूटी कटवाने को मैडम से लेकर बाबू तक परेशान,कारण जान हो जाएंगे हैरान

UP Assembly Election 2022 अभी कुछ माह पूर्व ही पंचायत चुनाव की डयूटी कर निजात मिली तो अब विधानसभा चुनाव सिर पर आ गए। ठंड और ऊपर से चुनावी डयूटी का सितम। सरकारी कर्मचारी अपनी चुनावी डयूटी कटवाने के लिए कंट्रोल रूम के चक्कर काट रहे हैं। चुनावी डयूटी कटवाने के लिए ऐसे बहाने बना रहे हैं जिन्हें पढ़कर हर कोई हैरान हो जाएगा।

मेरठ

Published: January 16, 2022 10:55:11 am

UP Assembly Election 2022 चुनाव कोई भी हो। ये देश की लोकतांत्रित प्रकिया है। देश में वैसे तो कई प्रकार के चुनाव होते हैं। लेकिन बड़े स्तर पर जो चुनाव निर्वाचन आयोग द्वारा करवाए जाते हैं। वे हैं आम चुनाव,विधानसभा चुनाव और पंचायत स्तर के चुनाव। इस समय अपने उप्र समेत 5 प्रदेशों में विधानसभा चुनाव की अधिसूचना जारी हो चुकी है। जिसके बाद चुनावी प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है। इस चुनावी प्रक्रिया को संपन्न कराने के लिए सरकारी कर्मचारियों की डयूटी लगाई जाती है। चुनावी डयूटी को कुछ कर्मचारी तो उत्साह के साथ निभाते हैं लेकिन कुछ यहां भी डयूटी करने में कंजूसी बरतते हैं। लेकिन डयूटी कटवाने में कुछ की मजबूरी और परेशानी होती है लेकिन इनमें अधिकांश ऐसे होते हैं जो चुनावी डयूटी से जान बचाते हैं।
UP Assembly Election 2022 : चुनावी डयूटी कटवाने को मैडम से लेकर बाबू तक कर रहे ऐसे जतन,पढ़कर हो जाएंगे हैरान
UP Assembly Election 2022 : चुनावी डयूटी कटवाने को मैडम से लेकर बाबू तक कर रहे ऐसे जतन,पढ़कर हो जाएंगे हैरान
इस बार मेरठ में आगामी 10 फरवरी को मतदान होने हैं। ऐसे में विधानसभा चुनाव प्रक्रिया संपन्न कराने के लिए कर्मचारियों की संख्या भी पर्याप्त होनी चाहिए। लेकिन चुनावी डयूटी से पहले ही यह संख्या जुटाने में जिला प्रशासन को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सरकारी कर्मचारी अपनी चुनावी डयूटी कटवाने के लिए तरह—तरह के बहाने और मेडिकल सर्टिफिकेट तक जमा कर रहे हैं। चुनाव डयूटी न करने के इनके तर्क भी बहुत अजीब है।
यह भी पढ़े : UP Assembly Election 2022 : 20 रुपये का चाय समोसा,17 की पलंग 7 का जग, ये है प्रत्याशियों के लिए आयेाग की रेट लिस्ट

जो कर्मचारी चुनावी डयूटी नहीं करना चाहते उनमें कुछ महिलाएं अपनी सास के बीमार होने तो कोई पुरूष सरकारी कर्मचारी घर में बच्चों की देखभाल और अपनी कोविड बीमारी का सर्टिफिकेट लगा रहा है। इतना ही नहीं कुछ लोग पुरानी जान-पहचान का हवाला देकर भी अपनी चुनाव ड्यूटी कटवाने के लिए लगे हुए हैं।
बता दे कि विधानसभा चुनाव में जिन कर्मचारियों की डयूटी लगाई जा रही है उनको अतिरिक्त सतर्कता के साथ टीकाकरण की बूस्टर डोज भी दी जा रही है। इसके बाद भी विभिन्न विभागों के कर्मचारी बीमारी से लेकर पुरानी पहचान का हवाला देकर ड्यूटी कटवाने के लिए विकास भवन के चक्कर काट रहे हैं। यहां पर सबसे बुरा हाल शिक्षा विभाग का है। उसमें भी बेसिक शिक्षा विभाग का। जहां पर कई शिक्षिकाओं ने अपनी सास व मां के बीमारी का हवाला देते हुए चुनावी ड्यूटी से मुक्त करने का आग्रह किया है। वहीं एक सरकारी शिक्षक ने तो घर में बच्चों को संभालने के लिए ड्यूटी कटवाने को आवेदन किया है।
यह भी पढ़े : Assembly Election 2022: चुनाव आयोग ने रैली और रोड शो पर लगी रोक आगे बढ़ाई,अब 22 जनवरी तक करना होगा डिजिटल प्रचार

इसके अलावा एक महिला ने ससुर की देखभाल के लिए चुनावी ड्यूटी कटवाने को प्रार्थना पत्र दिया है। सीडीओ शशांक चौधरी ने बताया कि बीमार कर्मियों के लिए मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया है। पड़ताल के बाद ही किसी को ड्यूटी से मुक्त किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिन कर्मचारियों की डयूटी लगाई गई है उनको बुस्टर डोज लगवाई जा रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

पेट्रोल-डीज़ल होगा सस्ता, गैस सिलेंडर पर भी मिलेगी सब्सिडी, केंद्र सरकार ने किया बड़ा ऐलानArchery World Cup: भारतीय कंपाउंड टीम ने जीता गोल्ड मेडल, फ्रांस को हरा लगातार दूसरी बार बने चैम्पियनआय से अधिक संपत्ति मामले में ओम प्रकाश चौटाला दोषी करार, 26 मई को सजा पर होगी बहसगुजरात में BJP को बड़ा झटका, कांग्रेस व आदिवासियों के लगातार विरोध के बाद पार-तापी नर्मदा रिवर लिंक प्रोजेक्ट रद्दलंदन में राहुल गांधी के दिए बयान पर BJP हमलावर, बोली- 1984 से केरोसिन लेकर घूम रही कांग्रेसThailand Open 2022: सेमीफाइनल मुक़ाबले में ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट से हारीं सिंधु, टूर्नामेंट से हुई बाहरपैंगोंग झील पर जारी गतिरोध के बीच रेलवे ने सुपरफास्ट ट्रेनों के लिए चीनी कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट क्यों दिया?Rajiv Gandhi 31st Death Anniversary: अधीर रंजन ने ये क्या कह दिया, Tweet डिलीट कर देनी पड़ रही सफाई, FIR तक पहुंची बात
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.