पड़दादी की मानी गई मनौती 40 साल बाद पड़पोतों ने ऐसे की पूरी

मेरठ। बुजुर्गों द्वारा मानी गई मनौती या मनोकामना को पूरी करने का फर्ज उनके बच्चों को होता है। लेकिन आजकल बहुत कम ऐसा होता है जब बुजुर्गो द्वारा मानी गई मनौती को उनके बच्चे पूरा करें। बुजुर्गों के स्वर्गवास होने के बाद उनकी बातें भी भुला दी जाती हैं। लेकिन मेरठ के पांडे परिवार ने तो इस परंपरा का पूरी तरह से निर्वहन किया। पड़दादी द्वारा मांगी गई मनौती को पूरा करने के लिए पड़पोतो ने पूरा कुनबा और रिश्तेदारों को निमंत्रण भेजा।

By: lokesh verma

Published: 05 Oct 2020, 10:30 AM IST

Meerut, Meerut, Uttar Pradesh, India
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned