भगवान विष्णु को मन से करेंगे याद तो कभी भी तिजोरी नहीं रहेगी खाली, ऐसे करें उपासना

भगवान विष्णु को मन से करेंगे याद तो कभी भी तिजोरी नहीं रहेगी खाली, ऐसे करें उपासना

Sanjay Kumar Sharma | Publish: Jun, 23 2019 10:04:20 AM (IST) | Updated: Jun, 23 2019 06:16:36 PM (IST) Meerut, Meerut, Uttar Pradesh, India

खास बातें

  • बृहस्पतिवार के दिन रखें इन बातों का ख्याल और करें मन से पूजा
  • भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए पीले रंग का करें ज्यादा उपयोग
  • सुख-समृद्धि के साथ-साथ मनोवांछित फल भी देते हैं भगवान विष्णु

मेरठ। भगवान विष्णु को सभी लोकों का पालनहार कहा जाता है। एक साल तक लगातार भगवान विष्णु की पूजा करने वाले को कभी भी पैसे की कमी नहीं रहती। उनकी तिजोरी आैर पर्स कभी खाली नहीं रहता। भगवान विष्णु की पूजा करने से घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है। जिन युवक-युवती के विवाह में रुकावटें आती हैं, उन्हें भगवान विष्णु की पूजा करनी चाहिए, अवश्य सफलता मिलती है। लक्ष्मीपति भगवान विष्णु की पूजा-अर्चना से नौकरी में आने वाली परेशानियां खत्म होती हैं। इनकी पूजा करने वाले लोगों को किसी चीज का अभाव नहीं रहता। भगवान विष्णु का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए बद्रीनाथ धाम में दर्शन करना बहुत शुभकारी माना जाता है।

यह भी पढ़ेंः Exclusive: बद्रीनाथ धाम में श्रद्धालुआें को लुभा रही 'मोदी जी थाली', जानिए क्यों पसंद की जा रही, देखें वीडियो

meerut

बृहस्पतिवार को करें प्रसन्न

भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए बृहस्पतिवार सर्वश्रेष्ठ दिन होता है। कहते हैं कि इस दिन यदि मन से पूजा की जाए तो भगवान विष्णु वरदान देते हैं। इन्हें सुख-समृद्धि का देव कहा जाता है। इन्हें पीला रंग बहुत पसंद है, इसलिए बृहस्पतिवार के दिन पीला रंग की वस्तुएं समर्पित करने से मनवांछित फल की प्राप्ति होती है। इस दिन पीले वस्त्र पहनने चाहिए, पीली वस्तुओं का दान करना चाहिए। बृहस्पतिवार को घर में पोंछा नहीं लगाना चाहिए और न ही कपड़े धोने या प्रेस करने चाहिए। बाल नहीं धोने चाहिए, न ही बाल कटवाने चाहिए आैर नाखून नहीं काटने चाहिए। इस दिन किसी को पैसे नहीं देने चाहिए। गुरुवार के व्रत के दौरान नमक का सेवन नहीं करना चाहिए और पीला भोजन करना चाहिए।

यह भी पढ़ेंः Bada Mangal 2019: इस दिन सच्चे मन से हनुमान जी की करेंगे पूजा-अर्चना तो देखेंगे चमत्कार

meerut

ऐसे करें पूजा की तैयारी

बृहस्पतिवार को भगवान विष्णु का व्रत रखें। इस दिन सुबह नहाने के बाद पीले रंग के कपड़े पहनें। पूजा में भोग लगाने के लिए गुड़ व चने को मिलाकर प्रसाद बनाएं। भगवान विष्णु की प्रतिमा को गंगाजल स्नान के बाद चंदन, सुगंधित पीले फूल, तुलसी की माला, पीले वस्त्र, कलावा, पीले फल, चने की दाल व पीली मिठाई चढ़ाकर पूजा करें। साथ ही केले के पेड़ की पूजा करना भी अत्यंत शुभकारी माना गया है। इस दिन बुरे विचारों को त्यागकर भगवान विष्णु के प्रति अपना जीवन अर्पण करें तो जीवन में सभी चीजों की पूर्ति होती है।

यह भी पढ़ेंः Ganga Dussehra 2019: 75 साल बाद बन रहे ये 10 दिव्य योग, गंगा स्नान आैर दान से बदल जाएगी किस्मत

meerut

इस मंत्र का करें जाप

बृहस्पतिवार को पूजा करने से पहले केले के पेड़ की पूजा करने के बाद घी का दीपक जलाना चाहिए। साथ ही केले के पेड़ की जड़ में चने की दाल चढ़ाना शुभ कहा गया है। घर के मंदिर में धूप-दीप जलाकर पीले आसन पर बैठकर तुलसी की माला से भगवाान विष्णु के मंत्र- 'ॐ नमो: नारायणाय, ॐ नमो: भगवते वासुदेवाय' का विषम संख्या 1, 3, 5, 11, 21, 31 माला जप करें। पूजा और मंत्र जाप के बाद भगवान विष्णु को धूप, दीप व कर्पूर से आरती करें। फिर देव स्नान कराया जल व प्रसाद ग्रहण करें। बृहस्पतिवार को पीले रंग की चीजें जैसे वस्त्र, अन्न, चने की दाल, केसर का दान करना शुभ माना जाता है। भगवान विष्णु सत्यनारायण कथा पढऩे से बहुत प्रसन्न होते हैं। ऐसी मान्यता है कि गुरूवार को विष्णु भगवान की पूजा करने से सारे कष्ट खत्म हो जाते हैं। भगवान विष्णु की पूजा करने से लक्ष्मी देवी भी प्रसन्न होती हैं।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned