Human Trafficking : नाैकरी के नाम पर बुलाकर दिल्ली और बंगाल की लड़कियों से कराया जा रहा देह व्यापार

  • देेह व्यापार के धंधे में धकेली जा रही दिल्ली और बंगाल की लड़कियां
  • मेरठ में देह व्यापार के धंधे से जुड़ी महिलाएं कर रही खरीद फरोख्त
  • पुलिस ने एक लड़की को महिला के चंगुल से कराया मुक्त
  • एनजीओ के माध्यम से पुलिस ने किया रेस्क्यू ऑपरेशन

By: shivmani tyagi

Updated: 16 Sep 2020, 11:59 AM IST

मेरठ। महानगर में भले ही रेड-लाइट एरिया कबाड़ी बाजार बंद हो गया हो लेकिन देह व्यापार का धंधा अभी भी जारी है। कुछ लोग बाहरी राज्यों से नौकरी लगवाने के नाम पर लड़कियों को ला रहे हैं और उनको देह व्यापार के धंधे में उतार रहे हैं। इन लड़कियों को लाने में कुछ महिलाएं भी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: ड्यूटी से लौट रहे पिता-पुत्र को टैंकर ने कुचला, ग्रामीणों ने हाईवे पर लगाया जाम

मेरठ में हुए खुलासे से यह प्रमाण मिले हैं। पुलिस ने एक महिला काे हिरासत में लिया है जो आसाम और बंगाल की लड़कियों को नौकरी दिलवाने के नाम पर उनकी खरीद-फरोख्त करती है और फिर उनसे देह व्यापार का धंधा कराती है। एकएनजीओ के माध्यम से पुलिस ने पीड़ित लड़की को इस महिला के चंगुल से सकुशल बरामद करा लिया।

यह भी पढ़ें: अखिलेश सरकार में पुलिस ने बरामद की थी आजम की भैंस, अब योगी की पुलिस ढूंढ रही कबूतर

मिशन रेस्क्यू ऑपरेशन के राजेंद्र सिंह को सूचना मिली थी एक महिला जो मेरठ की रहने वाली है। वह आसाम और बंगाल की लड़कियों को नौकरी का झांसा देकर खरीद कर लाती है और जबरन उनको वेश्यावृति के धंधे पर लगा दिया करती है। इसकी जानकारी एनजीओ को मिलने पर सदस्य राजेंद्र सिंह ने जनपद के उच्चाधिकारी को संपर्क किया। इसके बाद आसाम निवासी पीड़िता को सकुशल बरामद किय गया पुलिस ने इस मामले में एक महिला एक लड़की को हिरासत लिया है। बता दें कि मेरठ में देह व्यापार का धंधा काफी फल-फूल रहा है। भले ही रेड लाइट एरिया बंद हो गया हो लेकिन महानगर के बाहरी इलाकों में बनी पॉश कालोनियों में यह धंधा चल रहा है। मेरठ में अब भी बाहरी राज्यों से लड़कियों को नौकरी के नाम पर लाया जाता है और उनको देह व्यापार के धंधे में उतार दिया जाता है।

यह भी पढ़ें: फंदे पर लटकी मिली विवाहिता, प्रापर्टी डीलर गिरफ्तार

एएचटीयू के प्रभारी बृजेश कुमार ने बताया कि मिशन रेस्क्यू ऑपरेशन एनजीओ के पदाधिकारी राजेंद्र सिंह ने लिसाड़ीगेट क्षेत्र में नाबालिग लड़कियों की खरीद-फरोख्त की सूचना दी थी। इसे बाद पुलिस ने ग्राहक बनकर लकीपुरा निवासी सेक्स रैकेट संचालिका से संपर्क किया। सोमवार की शाम पुलिस ने महिला को नौचंदी थाना क्षेत्र स्थित नई सड़क पर मंदिर के पास मिलने के लिए बुलाय जहां पुलिस ने 15 वर्षीय किशोरी के साथ पहुंची महिला को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के दौरान महिला ने बताया कि वह किशोरी को 24 हजार रुपए में चार दिन के लिए दिल्ली से खरीद कर लाई थी। पीड़ित किशोरी ने महिला पर खुद से जबरन देह व्यापार कराए जाने का आरोप लगाया। एनजीओ मिशन रेस्क्यू ऑपरेशन के पदाधिकारी राजेंद्र सिंह का कहना है कि महिला पिछले काफी समय से नेपाल, आसाम और बंगाल से नाबालिग किशोरियों की खरीद-फरोख्त कर रही है। एएचटीयू प्रभारी बृजेश कुमार ने बताया कि महिला के खिलाफ ह्यूमन ट्रैफिकिंग और सेक्स रैकेट संचालन का मुकदमा दर्ज किया गया है। किशोरी के बयान मंगलवार को कोर्ट में कराए जाएंगे।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned