सरकार ने पुलिस को एनकाउंटर के लिए टारगेट दिया है, पैसा न दें तो गोली मारो: जयंत चौधरी

Rajkumar Pal

Publish: Oct, 12 2017 07:43:27 PM (IST)

Meerut, Uttar Pradesh, India
सरकार ने पुलिस को एनकाउंटर के लिए टारगेट दिया है, पैसा न दें तो गोली मारो: जयंत चौधरी

जयंत चौधरी ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार ने पुलिस वालों को एनकाउंटर का टारगेट दे रखा है।

मेरठ। मेरठ में राष्ट्रीय लोकदल उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने गन्ना किसानों आैर पुलिस के एनकाउंटरों को लेकर सरकार पर हमला बोला है। साथ ही पुलिस की कार्रवार्इ पर सवाल भी खड़े किए हैं। जयंत चौधरी ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार ने पुलिस वालों को एनकाउंटर का टारगेट दे रखा है। किसको पैर में गोली मारनी आैर किसके सीने में गोली मारनी है जो पैसा न दें उसके साथ कैसे निपटना है। यह बयान रालोद के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने मेरठ में किसान महापंचायत के दौरान मंच से दिया। साथ गन्ना किसानों की स्थिति पर भी सवाल उठाए हैं।

महापंचायत का आयोजन किया गया

दरअसल शुगर बाऊल कहे जाने वाले पश्चिमी उत्तर प्रदेश में एक बार फिर से गन्ने पर सियासत गर्माने लगी है। बकायदा गुरुवार को मेरठ में कमिश्नरी चौराहे पर स्थित चौधरी चरण सिंह पार्क में रालोद के द्वारा गन्ना किसानों की विभिन्न समस्याओं और सरकार द्वारा लायी जा रही कॉम्पैक्ट केन नीति के विरोध में महापंचायत का आयोजन किया गया था।

जयंत चौधरी ने महापंचायत में दिया ये बयान

इस महापंचायत में भारी संख्या में किसान और रालोद समर्थकों की भीड़ उमड़ी। वहीं रालोद के युवराज जयंत चौधरी की अध्यक्षता में इस महापंचायत का आयोजन किया गया। जयंत चौधरी ने मीडिया से रुबरु होते हुए कहा कि सरकार जो कॉम्पैक्ट केन नीति ला रही है। उससे किसान सिर्फ अपने क्षेत्र की चीनी मिल को ही अपना गन्ना देने के लिए मजबूर हो जाएंगे। जबकि अभी सब जगह कई कई गन्ने के केंद्र खुले हुए हैं लेकिन नई नीति के बाद ये केंद्र हट जाएंगे।

एक चीनी मिल का केंद्र रह जाएगा

उन्होंने आगे कहा कि इस नीति के केवल स्थानीय एक चीनी मिल का केंद्र रह जाएगा। ऐसे में किसानों की आजादी खत्म हो जाएगी और चीनी मिलों की मनमानी बढ़ जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने जल्दी ही गन्ने के उचित लाभकारी मूल्य की घोषणा करते हुए चीनी मिलों का नया सत्र शुरू करने की मांग की है।

Ad Block is Banned