Teacher's Day 2018: कौसर जहां को दिया जा रहा यह अहम पुरस्कार, इन्होंने पलट दिया सरकारी स्कूल का माहौल

Teacher's Day 2018: कौसर जहां को दिया जा रहा यह अहम पुरस्कार, इन्होंने पलट दिया सरकारी स्कूल का माहौल

Sanjay Kumar Sharma | Publish: Sep, 05 2018 11:52:26 AM (IST) Meerut, Uttar Pradesh, India

सरकारी स्कूलों में बेहतर शिक्षा व्यवस्था देखना चाहती है शिक्षिका

मेरठ। मैं चाहती हूं कि सरकारी स्कूलाें पर लगा घटिया शिक्षा व्यवस्था का लेवल हट जाए। यह तभी होगा जब हम सब शिक्षक इसके लिए प्रयासरत होंगे। आज सरकारी स्कूलों की जो भयावह तस्वीर लोगों के बीच है, उसके जिम्मेदार हम खुद हैं। क्योंकि हम वहां पर बच्चों का पढ़ाते हैं। ये स्कूल हमारे हैं। अगर इन स्कूलों की नाकामी की बात होती है तो यह नाकामी हमारी भी है। यह कहना है राज्य सरकार द्वारा राज्य शिक्षक पुरस्कार के लिए चुनी गई शिक्षिका कौसर जहां का। कौसर जहां मेरठ के फफूंड़ा के सरकारी स्कूल में शिक्षिका हैं।

यह भी पढ़ेंः Teacher's Day 2018: अंग्रेजी शिक्षिका के आदर्शों को देखकर एेसे राह बदल गर्इ इस आर्इएएस अफसर की

बच्चे बोलते हैं फर्राटेदार अंग्रेजी

कौसर जहां के स्कूल के बच्चे फर्राटेदार अंग्रेजी की गिनती और पहाड़ा बोलते हैं। उन्होंने स्कूल परिसर के भीतर जितना हिंदी बोलना अनिवार्य है उतना ही अंग्रेजी को भी वरीयता दी है। स्कूल में आने और बच्चों से बात करने के बाद यह नहीं पता चलता कि आप किसी सरकारी प्राइमरी स्कूल में हैं। कौसर जहां का सपना है कि सरकारी प्राइमरी स्कूल के बच्चे भी पब्लिक स्कूल के बच्चों के साथ खड़े हो सके। ऐसा तभी संभव होगा जबकि हम उन्हें शिक्षा देने में र्इमानदारी बरतेंगे।

यह भी पढ़ेंः Teacher's Day 2018: भूगोल के प्रोफेसर डा. कंचन सिंह को आज भी याद है अपने गुरुजी की पढ़ार्इ गणित की पाइथागोरस प्रमेय

जानिये कौन हैं कौसर जहां

मेरठ की रहने वाली शिक्षिका कौसर जहां को शिक्षक दिवस पर बुधवार को शिक्षक दिवस के मौके पर लखनऊ में राज्य शिक्षक पुरस्कार से नवाजा जा रहा है। राज्यपाल उनको यह सम्मान देंगे। सूचना मिलते ही कौसर के परिवार में खुशी की लहर है। कौसर मंगलवार की शाम को लखनऊ के लिए रवाना हो गई है।

यह भी पढ़ेंः Teacher”s day 2018:ये योग गुरु इन गरीब बच्चों की इस तरकीब से बदल रही तकदीर

पुरस्कार के लिए भेजे गए थे तीन नाम

राज्य शिक्षक पुरस्कार से लिए जनपद से तीन शिक्षकों के नाम शासन को भेजे गए थे, लेकिन मंगलवार शाम जारी हुई सूची में मेरठ की कौसर जहां का नाम अंतिम चरण में पास हो गया। मंडल में अकेली शिक्षिका कौसर जहां को ही इस पुरस्कार के लिए चुना गया है। इनका नाम इंटरव्यू के बाद फाइनल हुआ है। बता दें कि कौसर जहां फफूंडा स्थित प्राथमिक विद्यालय की प्रधानाध्यापिका है। बीते दिनों डीएम ने उनके विद्यालय का निरीक्षण भी किया था। डीएम बच्चों के आत्मविश्वास को देखकर गदगद हो गए थे, तभी से कयास लगाए जा रहे थे कि इस बार जिले में राज्य शिक्षक पुरस्कार कौसर जहां को मिलेगा। गौरतलब है कि कौसर जहां को मुख्यमंत्री विद्यालय पुरस्कार से नवाजा जा चुका है।

Ad Block is Banned